पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • अंबिका कॉलोनी में दवा और मोबाइल व्यापारी की फैमिलीज में झगड़ा, 6 जख्मी

अंबिका कॉलोनी में दवा और मोबाइल व्यापारी की फैमिलीज में झगड़ा, 6 जख्मी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अंबिका कॉलोनी में मंगलवार सुबह 11 बजे उस समय हंगामा हो गया जब तीन महीने पहले ब्याही बेटी से मिलने गए दिलकुशा मार्केट के दवा व्यापारी सतपाल, उनके बेटे योगेश, हेमंत कुमार, प|ी संतोष रानी का झगड़ा हो गया। झगड़े में मायके पक्ष के 4 लोग तो ससुराल पक्ष के दो लोग जख्मी हो गए। दवा व्यापारी की कार तोड़ दी गई। मोबाइल व्यापारी विनोद भाटिया और उनके बेटे नीतिश भाटिया को सिविल अस्पताल में तो सतपाल और उनकी फैमिली को सत्यम अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। थाना-8 की एसएचओ हीना गुप्ता का कहना है कि दोनों ओर से शिकायत आई है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

बस्ती शेख के जनक नगर के रहने वाले योगेश कुमार ने बताया कि वह पिता सतपाल और भाई के साथ मिलकर दिलकुशा मार्केट में दवा का कारोबार (दिवांशु डिस्ट्रीब्यूटर) करते हैं। बहन डिंपल की मैरिज इसी साल 11 मई को मोबाइल व्यापारी विनोद भाटिया के बेटे गुरशरन भाटिया के साथ हुई थी।

बेटी के देवर ने फोन कर बुलाया था घर

योगेश और हेमंत

विनोद भाटिया

बहू की फैमिली ने किया हमला : ससुर| किशनपुरा चौक के पास भाटिया मोबाइल हाउस चलाने वाले विनोद भाटिया ने कहा कि बेटे गुरशरन भाटिया की शादी को तीन महीने हुए हैं। बहू के मायके वाले हफ्ते बाद ही उसे लेने आ जाते हैं। मंगलवार को भी बहू की फैमिली लेने आई थी। उनका कहना था कि माता के दरबार में जाना है। तंग आ चुके थे तो इंकार कर दिया। इस बात को लेकर कहासुनी हो गई। बहू के मायके वाले गुस्से में आ गए। उसे और उसके बेटे नीतिश पर हमला कर जख्मी कर दिया। ससुर ने कहा कि कभी बहू को तंग नहीं किया है। यह बात झूठी है कि बहू को अपशब्द कहे।

मोबाइल व्यापारी विनोद का आरोप- बहू को बार-बार लेने आते थे मायके वाले, मना करने पर हमला

सतपाल ने कहा कि शादी के बाद बेटी पर पाबंदी लगा दी गई। वह न मायके आ सकती है न ही कॉल कर सकती है। सुबह बेटी का फोन आया कि रात में ससुर ने उसे अपशब्द कहे। अभी वह सोच रहे थे कि क्या करें? इस बीच बेटी के देवर ने दो बार कॉल कर कहा, सारी फैमिली आना। वह लोग समझे नहीं। अभी बहन के घर पहुंच इतना ही पूछा था कि रात को क्या बात हो गई? तभी बहन के ससुर और देवर भड़क गए और उन पर हमला कर दिया। जीजा ने भी हाथापाई की। संतोष रानी ने कहा कि नीतिश उसे जबरन कमरे में ले गया। वहां तलवार निकालकर बोला, गर्दन उड़ा दूंगा। योगेश ने कहा कि वह किसी तरह मां को बचाकर घर के बाहर ले आए। मारपीट में उनके कपड़े फट चुके थे। उनकी कार तोड़ दी। वह किसी तरह जान बचाकर कार लेकर निकले। थाने में जाकर शिकायत की। सिर में अंदरूनी चोट लगने के कारण फैमिली योगेश को सत्यम अस्पताल ले गई।

खबरें और भी हैं...