पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लक्खा लाहौरिया और बेटे समेत 5 की बेल रिजेक्ट

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर | पाम रोज़ वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के बाहर फायरिंग मामले में कोर्ट ने मंगलवार लक्खा लाहौरिया, उसके बेटे अर्श लाहौरिया, जसकरण और दूसरे पक्ष के साहिल व रजत की अग्रिम जमानत याचिका रिजेक्ट कर दी।

बचाव पक्ष ने दलील दी कि न तो फायरिंग में कोई जख्मी हुआ है न ही गोली सिक्का मिला है। पुलिस ने इसलिए केस बनाया कि पब्लिक ने कहा कि गोली चली। इस केस में वह भी लड़की सामने नहीं आई है, जिसे लेकर झगड़ा हुआ था। उनके क्लांइट बेकसूर है और उन्हें केस में राहत दी जाए।

वहीं पुलिस ने कोर्ट में कहा कि फायरिंग का मामला बेहद गंभीर है। केस में नामजद किए गए आरोपी बेहद चालाक हैं और उनसे कस्टडी में पूछताछ की जरूरत है, ताकि केस की गहराई से जांच हो सके। कोर्ट ने पुलिस की दलील से सहमत होते हुए अग्रिम जमानत याचिका रिजेक्ट कर दी।

पाम रोज़ वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के बाहर फायरिंग का मामला

9 दिन बीते, नहीं पकड़ा गया एक भी आरोपी

पाम रोज़ वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के बाहर फायरिंग का मामले में 9 दिन बीत चुके हैं, मगर एक भी आरोपी पुलिस पकड़ नहीं पाई। बता दें कि 30 जुलाई को बस अड्डे के बाहर फायरिंग हो गई थी। पुलिस ने जांच करके अर्जुन नगर के रहने वाले लक्खा लाहौरिया, उसके बेटे अर्श, भाई सूरज लाहौरिया, जसकरण, साहिल, रजत दोनों निवासी शाहकोट, सुक्खा काला संघिया, संदीप भारद्वाज पंडोरी निज्जरां, अभिलोच के अलावा दो दर्जन से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 323, 341, 336, 337, 160, 148, 149 और 120बी के तहत केस दर्ज किया था। इस बारे एसएचओ ओंकार सिंह ने कहा कि आरोपियों की तलाश में रेड जारी है।

खबरें और भी हैं...