पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नई तकनीक से हाईवे निर्माण करवाने को लेकर नई दिल्ली में परिवहन मंत्री से मिले सांसद पटेल

नई तकनीक से हाईवे निर्माण करवाने को लेकर नई दिल्ली में परिवहन मंत्री से मिले सांसद पटेल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालोर-सिरोही लोकसभा सांसद देवजी पटेल ने नई दिल्ली में मंगलवार को सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री मनसुख मांडविया से मुलाकात कर सांगरिया से सांचोर का निर्माण न्यू तकनीकी के आधार पर करवाने, झेरडा (गुजरात) से सिरोही राज्यमार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण करवाने, मंडार एवं रेवदर कस्बे के बाईपास सड़क निर्माण, जालोर आहोर मार्ग एन0एच0-325 पर स्थित समपार संख्या सी-48 के स्थान पर उपरी पुल का निर्माण करने, रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर नेषनल हाईवे का अतिशिघ्र निर्माण शुरू करने एवं सांचौर शहर से चल रहे जैसलमेर-बाड़मेर-संाचोर नेषनल हाईवे का शहरी क्षेत्र सांचौर में 4 किमी उपरी पुल (फलाईऑवर) निर्माण करवाने की मांग रखी।

राष्ट्रीय राजमार्ग सांगरिया से सांचोर का निर्माण न्यू तकनीकी के आधार पर करवाने को लेकर सांसद सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री मनसुख माडविया से मिलकर बताया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग सांगरिया से सांचोर का सर्वे शुरु है जो मेरे संसदीय क्षेंत्र के जालोर जिले से होकर गुजर रहा है। क्षेत्र में नर्मदा नहर एवं कृषि कुओं के माध्यम से किसान सिचाई पुर-जोर से कर रहे हैं। संसदीय क्षैत्र की भूमि उपजाऊ एवं कृषि कार्यो हेतु उपयुक्त है। यहा के किसानो द्वारा अनार, आम, पपीते, चीकु, एवं क्षेंत्र की मुख्य फसले ईसबगोल, जीरा, सरसों, गैहू, तिल, मूंग, बाजरा, मोठ, ज्वार, ग्वार, अरण्डी, की भरपूर पैदावार ली जाती है यह क्षेत्र ईसबगोल व जीरा एवं बाजरा की उपज के लिए प्रसिद्ध है। सांसद पटेल ने बताया कि क्षेत्र के किसान फव्वारा, स्प्रीगलगर, एवं ग्रीन हाउस द्वारा फल, फूल व सब्जिया की पैदावार ले रहे हैं। क्षेत्र में पूर्व में भी नर्मदा नहर एवं गैस पाईप लाईन व रिंग रोड़, बायपास सड़क के निर्माण हेतु किसानों से जमीन अवाप्त की जा चुकी है। यहा कि बहुमुल्य भूमि को होने के कारण हाईवे सर्वे लाईन पर निर्माण न्यु तकनीकी के आधार पर किया जायें ताकि किसानों की भूमि बर्बाद न हो और सरकार को भी जमीन का मुआवजा अधिक नहीं देना पड़े।

साथ ही सड़क के दोनों ओर किसानों की जमीन या आबादी एवं गांव में आवागमन के लिए सुगमता पूर्वक मार्ग निकाला जायें जिससे किसानों एवं ग्रामीणों को अपने ही खेत व गांव में आने-जाने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ें। पटेल ने कहा कि जहा से सड़क का सर्वे हुआ हैं उस परिक्षैत्र में पानी का बहाव क्षेत्र है, जिससे यदि सड़क निर्माण धरातल पर होता है तो पानी के बहाव क्षेत्र में रूकावट होने से गांव व आबादी क्षेत्र जलमगन तथा डूब में हो जायेंगें। ऐसी स्थति में सड़क टूटने भी संभावना रहती हैं। उन्होंने राज्य मंत्री से पुरजोर मांग रखते हुए नई तकनीक से सड़क निर्माण करने की मांग की।

राज्य मार्ग रोहिट-सांचौर को राष्ट्रीय राज्य मार्ग घोषित करने की रखी मांग उठाई

सांसद देवजी पटेल ने सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री से चर्चा के दौरान बताया प्रदेश के जोधपुर संभाग के पश्चिमी क्षेत्र में रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर का रास्ता करीब 250 किमी लंबा हैं। यह मार्ग जोधपुर, पाली, जयपुर, अजमेर, ब्यावर एवं दिल्ली को सीधा पश्चिम क्षेत्र से जोड़ता हैं, इस मार्ग से कांडला बंदरगाह, अहमदाबाद जैसे गुजरात के बडे शहरों से सीधा सम्र्पक होता है। साथ ही यह सड़क मार्ग जिले के सभी उपखंड क्षेत्र को जालोर जिला मुख्यालय एवं जोधपुर संभाग से जोड़ता हैं। इस सड़क मार्ग कों राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण के लिए उदयपुर में प्रधानमंत्री की रैली में घोषणा की जा चुकी थी। लेकिन अभी तक इस सड़क के संबंध में किसी भी प्रकार कोई प्रगति नहीं हुई है। जिसके कारण इस सड़क का कार्य शुरु करवाने की मांग रखी।

खबरें और भी हैं...