पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ट्रांसजेंडरों के विकास के िलए सरकार से करेंगे बात

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एलजीबीटी (लेस्बियन, गे और बाई-सेक्सुअल व ट्रांसजेंडर) भी इसी समाज का हिस्सा हैं। इनको भी मुख्य धारा से जोड़ने की जरूरत है। इनके विकास के लिए अलग योजना बनाने काे लेकर सरकार से बात की जाएगी। यह बातें घाटशिला विधायक लक्ष्मण टुडू ने शुक्रवार को रामदास भट्‌ठा सामुदायिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में कहीं। बतौर मुख्य अतिथि विधायक ने एलजीबीटी समाज के लोगों के उत्थान की बात की।

पोटका विधायक मेनका सरदार ने भी इस समाज के लोगों के विकास व सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की बात कही। कार्यक्रम का आयोजन एलजीबीटी के लिए काम करने वाली संस्था उत्थान, मुंबई की संस्था हमसफर और ऊंची उड़ान की ओर से किया गया था। कार्यक्रम के दौरान धारा- 377 को हटाने और एलजीबीटी के लिए बोर्ड गठन को लेकर पैनल डिस्कशन किया गया। इसमें जमशेदपुर बार एसोसिएशन के महासचिव अनिल तिवारी, रांची से आए पंकज सोनी, ट्रांसजेंडर के लिए काम करने वाली सामाजिक कार्यकर्ता पद्मा उपस्थित थी।

पैनल डिस्कशन में यह बात सामने आई कि समाज में हमारे बीच ऐसे भी लोग हैं, जो लेस्बियन, गे और बाई-सेक्सुअल हैं। ऐसे लोग जब आपस में संबंध बनाते हैं तो कानून की धारा-377 उन्हें गलत ठहराती है। इसको लेकर सजा भी होती है। लेकिन वर्तमान में ऐसे लाेगों की संख्या बढ़ रही है। इसलिए इस धारा को हटाने की जरूरत है। डिस्कशन में बोर्ड गठन की बात उठी। वक्ताओं का कहना था कि बोर्ड के माध्यम से इस समाज के लाेग अपनी समस्या व मांग को उठा सकेंगे।

लेस्बियन, गे, बाई सेक्सुअल, ट्रांसजेंडर को लेकर आयोजित कार्यक्रम में विधायक लक्ष्मण टु़डू बोले
खबरें और भी हैं...