पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • पहले नक्शा बनाते हैं; फिर प्लॉट बांटकर ग्राहकों से करते हैं सौदेबाजी

पहले नक्शा बनाते हैं; फिर प्लॉट बांटकर ग्राहकों से करते हैं सौदेबाजी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डीबी स्टार जमशेदपुर

गोलमुरी क्लब के सामने सरकारी जमीन पर भूमाफियाओं की नजर है। जमीन पर कब्जे को लेकर कभी भी खूनी संघर्ष हो सकता है। कब्जा करने के लिए जमीन पर ईंट-पत्थर के साथ ही बिल्डिंग मैटेरियल भी रख रहे हैं। जमीन के गोरखधंधे में बिल्डर, स्थानीय सफेदपोश के साथ परमजीत गिरोह के गुर्गे भी सक्रिय हैं। खूनी संघर्ष की आशंका बनी है। इसकी जानकारी जिला पुलिस-प्रशासन को है। लेकिन, सरकारी जमीन के काले खेल से इन्हें भी अच्छी खासी कमाई हाेती है। लिहाजा वे कार्रवाई करने की बजाय चुप रहते हैं। बिरसानगर में सरकारी जमीन पर कब्जे को लेकर खूनी संघर्ष की सुगबुगाहट बुधवार रात देखने को भी मिली जब जमीन पर दखल का दावा करने वाले राजेंद्र प्रसाद के घर पर हमला हुआ। इसके बाद बिरसानगर थाने में मामला पहुंचा, लेकिन कागजी प्रक्रिया के बाद ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।

जबरन सरकारी जमीन पर रख देते हैं बालू आैर गिट्‌टी
जमीन के खेल में हो चुकी हत्याएं
शहर में सरकारी जमीन पर कब्जा के खेल में कई हत्याएं हो चुकी हैं। पुलिस-प्रशासन के लिए सिरदर्द बन गई थी। करनडीह में लखाई हांसदा, जेम्को में ट्रांसपोर्टर दलबीर सिंह बीरे, कदमा में बच्चू घोष, राजा चक्रवर्ती, बागबेड़ा में अरविंद पांडे ऐसे दर्जनों नाम हैं, जिनकी हत्याएं हुई थीं। जांच में पुलिस की लापरवाही का खुलासा हुआ था। जमीन की रजिस्ट्री नहीं है, लेकिन जब जमीन की घेराबंदी शुरू होती है तो दर्जनों लोग एक ही जमीन का सेल एग्रीमेंट लेकर पहुंच जाते हैं। काफी हंगामा होता है। मारपीट और हत्या तक हो जाती है। पुलिस चुपचाप तमाशा देखती है।

गोलमुरी क्लब के सामने सरकारी जमीन की तस्वीर।

 जमीन अतिक्रमण के संबंध में शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई की जाती है। इसके लिए स्थानीय थाना प्रभारियों को भी सख्त आदेश दिए गए हैं। किसकी जमीन अतिक्रमण हो रही है यह देखना हमारा काम नहीं है, लेकिन विधि व्यवस्था नहीं बिगड़ने दी जाएगी। इस मामले की जांच की जाएगी।  अनुदीप सिंह, सिटी डीएसपी

खबरें और भी हैं...