पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • महायज्ञ के लिए निकली कलश यात्रा, 751 महिलाएं हुईं शामिल

महायज्ञ के लिए निकली कलश यात्रा, 751 महिलाएं हुईं शामिल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर जमशेदपुर

बर्मामाइंस दुर्गा पूजा मैदान परिसर में शुक्रवार को श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ शुरू हुआ। पहले दिन 751 महिलाएं सोनारी दोमुहानी से कलश में जल भरकर यज्ञ स्थल पहुंचीं।

इसके लिए सुबह में गाजे-बाजे के साथ बर्मामाइंस दुर्गा पूजा मैदान परिसर से कलश यात्रा निकाली गई। इसमें सैंकड़ों श्रद्धालु शामिल हुए। बर्मामाइंस देवस्थान शिव मंदिर होते हुए कलश यात्रा सोनारी दोमुहानी पहुंची। कलश यात्रा में आकर्षक झांकी भी निकाली गई। पंच परमेश्वर यज्ञ सेवा समिति के अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह उर्फ बम भोला सिंह ने कहा- कलश यात्रा के बाद श्रद्धालुओं के बीच भोग का वितरण किया गया। शाम में आचार्य आदित्य नारायण दूधिया महाराज ने प्रवचन दिया। यहां हर 5 साल पर महायज्ञ का आयोजन किया जाता है। यह तीसरी बार आयोजन हो रहा है। महायज्ञ के तहत 7 अप्रैल से 13 अप्रैल तक प्रतिदिन सुबह 8 बजे से 11 बजे तक हवन होगा। 14 अप्रैल की सुबह पूर्णाहुति और दोपहर 2 बजे से शाम 7.30 बजे तक महाभंडारा का आयोजन किया जाएगा।

पांच साल बाद श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ शुरू
गाजे-बाजे के साथ बर्मामाइंस दुर्गा पूजा मैदान परिसर से निकली कलश यात्रा में शामिल हुईं महिलाएं।

अरे द्वारपालों कन्हैया से कह दो...
मानगो बड़ा हनुमान मंदिर (त्र्यंबक महादेव मंदिर) में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के अंतिम दिन कथावाचक लता सिन्हा ने सुदामा चरित्र का वर्णन किया। उन्होंने कहा- सुदामा की मित्रता के बारे में शुक्रदेव महाराज बताते हैं कि सुदामा शांत स्वभाव के गरीब व भगवान के भक्त थे। प्रतिदिन पांच घरों में जाकर भिक्षा मांगते थे। भिक्षा मिल जाए तो भी संतुष्ट, ना मिले तो भी संतुष्ट रहते थे। सुदामा की प|ी सुशीला उन्हें अपने मित्र श्रीकृष्ण से मिलने जाने को कहती थी। कुछ चावल बस्ती के घरों से मांगकर लाकर देती और कहती हैं- यह भेंट लेकर अपने मित्र के घर जाइए। सुदामा अपने घर से नंगे पांव श्रीकृष्ण से मिलने निकल पड़ते हैं। बीच रास्ते में सुदामा को नींद आ जाती है। सुदामा के आने का समाचार मिलने पर श्रीकृष्ण योगमाया से कहकर उन्हें (सुदामा) को द्वारिका ले आते हैं।

आसाराम बापू का अवतरण दिवस मनाया
डिमना आश्रम में शुक्रवार को आसाराम बापू का 82वां अवतरण दिवस मनाया गया। इस दौरान भक्तों ने जप-तप, ध्यान-भजन कीर्तन कार्यक्रम का आयोजन किया। योग वेदांत सेवा समिति के सदस्यों ने दीप आरती की। इसके बाद श्री योग वेदांत सेवा समिति की जमशेदपुर शाखा की ओर से आश्रम के पास के गांवों में विशाल भंडारा और अन्न-वस्त्र आदि का वितरण किया गया। मौके पर पीएल गौतम सहित सभी साधक भाई-बहन उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...