पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • अश्लील हरकत करने वाले आरोपी शिक्षक की मां बोली मेरा बेटा ऐसा नहीं कर सकता

अश्लील हरकत करने वाले आरोपी शिक्षक की मां बोली- मेरा बेटा ऐसा नहीं कर सकता

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भाटखेड़ा सरकारी प्राथमिक स्कूल में छात्राओं से अश्लील हरकत करने के मामले में आरोपी सहायक अध्यापक चंद्रशेखर गेहलोत जेल में हैं। उन्हें बचाने के लिए शनिवार दोपहर कई शिक्षक और ग्रामीण सड़कों पर उतरे। उन्होंने चौपाटी से एसडीएम कार्यालय तक रैली निकालकर कलेक्टर के नाम नायब तहसीलदार रामविलास वक्तारिया को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान शिक्षक की मां कमलाबाई गेहलोत ने बिलखते हुए कहा- मेरा बेटा ऐसी हरकत नहीं कर सकता।

ग्रामीणों के साथ ज्ञापन देने आईं कमलाबाई निवासी सुखेड़ा के साथ उनकी बेटी व आरोपी की बहन कुसुमदेवी निवासी बड़ावदा भी थीं। नायब तहसीलदार को ज्ञापन देने के दौरान दोनों फफक-फफक कर रोने लगीं। मां बोली मेरा बेटा धार्मिक प्रवृति का है। ऐसी गलत हरकत कर ही नहीं सकता। उसे किसी ने फंसाया है। ग्रामीणों का नेतृत्व कर रहे मप्र शासकीय अध्यापक संघ के प्रांतीय संगठन मंत्री मोहनसिंह सोलंकी ने अधिकारियों से कहा सहायक अध्यापक गेहलोत ने लोगों को स्कूल परिसर में अतिक्रमण नहीं करने दिया। इस रंजिश के चलते उन्हें किसी ने झूठा फंसाया है। यह गहरी राजनीतिक चाल है। शिक्षक पर तीन साल से ऐसी हरकतों के आरोप हैं तो इतने दिन शिकायत क्यों नहीं हुईं। इसलिए निष्पक्ष जांच के बाद ही कार्रवाई हो। आरोपी शिक्षक के समर्थन में आए ग्रामीणों ने शिक्षक से मारपीट करने वाले लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने की मांग की। कर्मचारी नेता हेमंत सोलंकी ने भी बयान जारी कर निष्पक्ष जांच की बात कही।

नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपने के दौरान बिलखती आरोपी सहायक अध्यापक की मां।

सरपंच ने कहा- मुझे नहीं लगता सर ने ऐसा किया होगा, अभिभावक बोले- हमारी बच्चियां झूठ क्यों बोलेंगी
भाटखेड़ा के 27 वर्षीय सरपंच गणपतलाल जाट का कहना है शिक्षक गेहलोत 19 साल से गांव में ही सेवाएं दे रहे हैं। मैं खुद उनसे दो क्लास पढ़ा हूं। मुझे नहीं लगता उन्होंने ऐसा किया होगा। छात्राओं से छेड़छाड़ के आरोप को लेकर अभी कुछ भी नहीं कह सकते क्योंकि मामला पुलिस जांच में है। स्कूल के आसपास पांच महीने पहले तक अतिक्रमण था। अब बाउंड्रीवाल बन गई, जिससे अतिक्रमण नहीं है। उधर शिक्षक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने वाले अभिभावकों का कहना है कि हमें बच्चियों ने जो बताया, उसी अनुसार शिकायत दर्ज कराई। भला इतनी छोटी बच्चियां झूठ क्यों बोलेंगी?

शिक्षक को पीटने वाले ग्रामीणों पर कार्रवाई करें, संयुक्त मोर्चा कल देगा ज्ञापन
शनिवार शाम 6 बजे शिक्षक संघ, लघु वेतन कर्मचारी संघ, तृतीय श्रेणी कर्मचारी संघ, अपाक्स, लिपिक वर्ग कर्मचारी संघ व अध्यापक वर्ग संघ के पदाधिकारी सीएसपी कार्यालय पहुंचे। सीएसपी आशुतोष बागरी से कहा शिक्षक गेहलोत पर लगे आरोपों की उच्च स्तरीय जांच हो। उनसे मारपीट करने वालों ने कानून हाथ में लिया, इसलिए केस दर्ज करें। कर्मचारी नेता जगदीश उपमन्यु, हेमंत सोनी, मुरली निंबे, कैलाश पंवार, राजेंद्र त्रिवेदी, दीपक सुराणा, विलियम अल्फ्रेड आदि मौजूद थे। सोनी ने बताया संयुक्त कर्मचारी मोर्चा सोमवार शाम 4.30 बजे सिटी थाने में ज्ञापन देगा।

मैं सीएम के कार्यक्रम की तैयारी में व्यस्त हूं- सीएसपी
इधर, कालूखेड़ा पुलिस ने घटना के दूसरे दिन शनिवार को भाटखेड़ा में स्कूल पहुंचकर तफ्तीश शुरू कर दी। हालांकि वह कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। सीएसपी आशुतोष बागरी का कहना है मैं सीएम के कार्यक्रम की तैयारी में व्यस्त हूं। टीआई आर.एस. भाबोर बोले- जांच चल रही है। कुछ बिंदु इन्वेस्टिगेशन के हैं जिसे लेकर कुछ भी नहीं बता सकते।

यह है मामला
जावरा से 20 किमी दूर भाटखेड़ा के सरकारी प्राथमिक स्कूल में पदस्थ सहायक अध्यापक चंद्रशेखर गेहलोत के साथ शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे कुछ अभिभावकों ने यह कहते हुए जूते-चप्पलों से मारपीट की थी कि गेहलोत ने छात्राओं के साथ अश्लील हरकत की। इसके बाद उन्हें पुलिस के सुपुर्द कर दिया और पुलिस ने केस दर्ज कर कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेजने के आदेश हुए थे।

खबरें और भी हैं...