पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बारिश से गांव में ही घिर जाते हैं हरिजन और मेहता टोला के लोग

बारिश से गांव में ही घिर जाते हैं हरिजन और मेहता टोला के लोग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कांडी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत‎ घटहुआं कला पंचायत के राजा घटहुआं हरिजन टोला व मेहता टोला के शत प्रतिशत मजदूरों की करीब दो हजार की आबादी बारिश होने पर घरों में कैद होकर रह जाती है। हारी बीमारी की हालत में भी उनके पास राम राम कहकर मरीज के जीने की दुआ मांगने या टोना टोटका व झाड़ फूंक कराने के अलावा कोई चारा शेष नहीं बचता। भारी बारिश के बाद पंडी नदी उफान पर होती है। अन्य रास्ते भी बंद हो जाते हैं।

बरसात के चार महीने यहां के लोग कमर भर पानी में नदी पार करके ही कहीं भी आना जाना करते हैं। लेकिन बारिश के बाद पंडी नदी में 10-12 फुट गहरा पानी काफी तेज करेंट के साथ बहने लगता है। ऐसी स्थिति कई दिनों तक बनी रहती है। ऐसे में लोगों का घर से बाहर निकलना कठिन हो जाता है। बच्चों व बीमारों को सबसे अधिक कठिनाई‎ होती है।

इस प्रसंग का सबसे दुखद पहलू है कि मजदूर बहुल इन गावों व टोलों की यह हालत इनके बसने के समय की है। यही हालत चुड़िहार टोला के निकट इसी नदी के कारण वहां की आबादी की भी है। इस संबंध‎ में पंचायत के उप मुखिया अजीज अंसारी, पंचायत समिति सदस्य नूतन देवी, वार्ड सदस्य अरुण राम, कहते है कि कम से कम ढाई से तीन सौ आम सभाओं में मेहता टोला व चुड़िहार टोला के सामने पंडी नदी पर पुल निर्माण का प्रस्ताव पारित किया गया है। लेकिन आज तक पुल का निर्माण नहीं किया गया।

बारिश के बाद पंडी नदी में 10-12 फुट गहरा पानी काफी तेज करेंट के साथ बहने लगता है, दूसरे रास्ते भी बंद हो जाते हैं

बारिश और नदी के पानी से परेशान लोग।

पंचायत के पास पुल बनाने के लिए निधि नहीं है

मुखिया शाहीना बीवी ने कहा कि इन जगहों पर पुल निर्माण कराने भर की निधि पंचायत के पास उपलब्ध‎ नहीं है। इधर प्रशासन ने पंचायत से सड़क निर्माण नहीं कराने का फरमान जारी कर रखा है। वरना अस्थाई व्यवस्था की जा सकती थी।

खबरें और भी हैं...