पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • दुष्कर्म के बाद नाबालिग बनी मां, आरोपी को 10 साल कैद

दुष्कर्म के बाद नाबालिग बनी मां, आरोपी को 10 साल कैद

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ग्राम पिपरौद की 15 वर्षीय नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म मामले को लेकर गांव के युवक आकाश निषाद 22 वर्ष पिता बुधारू को न्यायालय ने 7 अगस्त को 10 साल की सजा सुनाई। 2016 में दीपावली के दौरान युवक नाबालिग के घर पहुंचा।

इस दौरान घर में उसके माता-पिता नहीं थे। युवक ने नाबालिग को जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया। इसके बाद युवक उसे डरा धमका कर दुष्कर्म करता रहा। 2017 में नाबालिग के गर्भवती होने पर परिजनों को जानकारी हुई। परिजनों ने नवजात को घर के बाहर फेंक दिया था। बच्चे के रोने की आवाज सुन गांव के लोगों को जानकारी हुई तथा खून के निशान के आधार पर घर तक पहुंचे, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

नवजात का कई दिनों तक जिला अस्पताल में डाक्टरों की विशेष निगरानी में इलाज हुआ। 16 नवंबर 2017 को युवक के खिलाफ मामला दर्ज हुआ। मामले में पीड़िता सहित 15 साक्षियों से बयान लिया गया। विशेष सत्र न्यायालय में जिला सत्र न्यायाधीश हेमंत सराफ ने आरोपी को 10 साल कैद और अर्थदंड की सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...