पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • कांग्रेस पेयजल का भी मुद्दा उठाती है पर बीयर वाले वीडियों को ही किया वायरल

कांग्रेस पेयजल का भी मुद्दा उठाती है पर बीयर वाले वीडियों को ही किया वायरल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जनघोषणा यात्रा के दौरान शनिवार को नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव कांकेर पहुंचे। सुबह से शहर में घूमकर अलग अगल समूहों से भेंट कर घोषणा पत्र को लेकर चर्चा की। बीयर के मुद्दे को लेकर विधानसभा में बहस करने वाली कांगे्रस के वायरल वीडियो को लेकर भास्कर ने सिंहदेव से विशेष चर्चा की तो कहा हमारी सरकार बनी तो प्रदेश में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाएगा।

प्रेसवार्ता के दौरान जब सिंहदेव से विधानसभा के वायरल वीडियो को लेकर सवाल पर कहा कांग्रेस बीयर ही नहीं पेयजल के भी मुद्दा उठाती है। विधानसभा में पेयजल को लेकर भी बात की गई है लेकिन किसी ने सिर्फ बीयर वाले वीडियो को ही वायरल किया है। भूपेश बघेल संवेदनशील नक्सल प्रभावित गांव सूपेबेड़ा गए थे जहां पर्याप्त पेयजल नहीं होने के कारण मौतें हो रही हैं। वहां 170 लोगों की मौत हो चुकी है। इस पर भी सदन में चर्चा की गई।

बीयर के मामले पर कहा कि कुछ लोगों ने शिकायत की थी कि छत्तीसगढ़ में सिर्फ एक ही ब्रांड की बीयर बेची जा रही है। अन्य ब्रांड को यहां नहीं लाया जा रहा है। इसे लेकर ही सवाल किया गया था क्योंकि सरकार शराब कोचियों से बचाने नहीं स्वयं इसमें अपने धंधे को पूर्ण नियंत्रण करने फैसला लिया है। इसके बाद भास्कर से चर्चा करते कहा कि छग में उनकी सरकार बनेगी को यहां पूर्ण शराबबंदी होगी। यह भी कहा कि ट्राइबल व शेड्यूल एरिया के क्षेत्र को छोड़ कर, वहां शराबबंदी का अधिकार ग्रामसभा को होगा।

तांत्रिक नहीं भाजपा का पदाधिकारी, जिसने पहनी थी सुअर दांत की माला: विधानसभा में तंत्रमंत्र कर अंधविश्वास फैलाने को लेकर उठे सवाल पर कहा यह एक शगूफा है। वह भाजपा का पदाधिकारी है, तंत्र मंत्र के लिए नहीं आया था। उसकी वेशभूषा जरूर वैसी थी। उसने नए नए रंग बिरंगे पत्थरों की मालाएं पहन रखी थी। उसमें सुअर के एक दांत की भी माला थी। वह होटल का संचालन करते हैं। साथ ही भाजयुमो पदाधिकारी हैं। जिस चोले में थे उससे वे न्यूज में आ गए। हो सकता है वे तंत्र विद्या से जुड़े हों।

जोगी से नहीं कोई खतरा: छग में दो पार्टी भाजपा व कांग्रेस के बीच ही वोटों का बंटवारा होता है। जोगी से नहीं बनती इसलिए नहीं कह रहा हूं। मैने व्यक्तिगत इस पर स्टडी की है। मेरा मानना है वे विश्वासघात कर रहे थे। कांग्रेस में रहकर कांग्रेस के खिलाफ काम कर रहे थे। तभी यह परिस्थिति बनी कि अलग-अलग रास्तों में चलना पड़ा। हर कार्यक्रम में अजीत जोगी जिंदाबाद के नारे लगते थे। अब कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद के नारे लगते हैं।

कांकेर। महिला आईटीआई में सिंहदेव के साथ सेल्फी लेती छात्रा।

सिंहदेव 66 साल के बूढ़े नहीं 66 साल के जवान
6 जुलाई को विधानसभा में कांग्रेस ने अविश्वास प्रस्ताव लाया। कार्यवाही देर रात 2 बजे तक चली जिसमें पूरे समय सिंहदेव मौजूद रहे। देर रात 3 बजे खुद कार चलाते 150 किमी दूर कांकेर पहुंचे। सुबह फ्रेश होने के बाद 6.30 बजे वे शहर के विश्राम सिंह गार्डन पहुंचे जहां लोगों से चर्चा की। उनके चेहरे पर थकान बिल्कुल नजर आई। फिर नरहरदेव स्कूल, पुराना बसस्टैंड पहुंचे, यहां उन्हें शहर में हर साल दूधनदी के बाढ़ का पानी भरने की शिकायत मिली। इसके बाद नया बसस्टैंड और नगर पालिका में सफाई कर्मियों से मिले। फिर पैलेस में राजपरिवार व पुजारियों से चर्चा की। अस्पताल में डॉक्टरों, मरीजों से मिले। यहां से वे दोपहर 1 बजे प्रेस कांफ्रेंस के लिए हॉटल पहुंचे। एक घंटे प्रेस से चर्चा करने के बाद भी सिलसिला रुका नहीं और वहां से जनपद पंचायत, फिर मितानिनों से मिलने पुराना कम्युनिटी हॉल, अधिवक्ताओं से मिलने बार रूम, किसानों से मिलने लेम्पस, गोंडवाना समाज से मिलने गोंडवाना भवन, लघु वनोपज संग्राहकों से मिलने माकड़ी पहुंचे। इसके बाद सर्किट हाऊस में कांकेर चेंबर ऑफ कामर्स, पेट्रोल पंप डीलरों, शिक्षाकर्मियों, राइस मिल एसोसिएशन, पिछड़ा वर्ग समाज, बेरोजगार संघ, पंचायत प्रतिनिधियों, नगर पालिका प्रतिनिधियों, सेवादल, एनएसयूआई कार्यकर्ताओं से दिनभर मुलाकात करते रहे।

खबरें और भी हैं...