पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ‘बीमारियों से बचाव को मच्छरों को पनपने से रोकें’

‘बीमारियों से बचाव को मच्छरों को पनपने से रोकें’

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश का मौसम आते ही मच्छरों का प्रकोप शुरू हो जाता है और फिर मलेरिया, डेंगू या चिकनगुनिया जैसी मच्छर जनित बीमारियां फैलती हैं। इनसे बचने के लिए जहां एक ओर इलाज जरूरी है, वहां दूसरी ओर मच्छरों को पनपने से रोकने के कुछ सरल उपाय भी कारगार सिद्ध रहते हैं और उन्हें अपनाकर काफी हद तक इन बीमारियों से बचा जा सकता है।

डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने मच्छरों के काटने से होने वाले बुखार, उनके लक्षण और मच्छरों को पनपने से रोकने के सरल उपायों की जनहित में जानकारी दी है।

सुझाव

डीसी अादित्य दहिया ने मच्छरों से बचाव और उन्हें पनपने से रोकने की दी जानकारी

डेंगू बुखार के लक्षण

अचानक तेज बुखार का होना, छाती व ऊपर के हिस्सों में दानों का निकलना, सिर के आगे वाले हिस्से में जोर का दर्द, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द व शरीर के जोड़ों में दर्द तथा भूख ना लगना व उल्टी आना है।

मलेरिया बुखार के लक्षण

ठंड लगकर बुखार आना, शरीर में दर्द, सिरदर्द व उल्टी होना तथा कोई भी बुखार मलेरिया हो सकता है।

यह हैं सरल उपाय

अपने घर के आस-पास पानी खड़ा ना होने दें, क्योंकि खड़े पानी में ही मच्छर पनपता है। प्रत्येक रविवार को ड्राई डे मनाएं अर्थात कूलर, फूलदान, पशु व पक्षियों केपानी के बर्तन व होदी को अवश्य सुखाकर ही पानी भरें। कार्यक्रम में भारत विकास परिषद श्री राधा कृष्ण शाखा के अध्यक्ष गौरव खुराना, ऑडिटर संजय बत्तरा, सचिव अनिल अरोड़ा, मीडिया प्रभारी सुरेंद्र मरवाहा, उपाध्यक्ष दलीप मौंगा, सह सचिव प्रमोद नागपाल, पूर्व सचिव मानव पूरी, जोगिंद्र जूड, वंदना, पूनम, ममता, नीतिका सहित परिषद के सभी पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे।

चिकनगुनिया के लक्षण

तेज बुखार के साथ मांसपेशियों व जोड़ो में तेज दर्द, भूख कम लगना तथा कमजोरी और जी घबराना शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...