पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आध्यात्मिकता का अर्थ अध्यात्म के मूल अर्थ को जानना है : गुरदेव सिंह

आध्यात्मिकता का अर्थ अध्यात्म के मूल अर्थ को जानना है : गुरदेव सिंह

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के द्वारा गांव बुट्टर शरींह में दो दिवसीय गुरबानी विचार व कीर्तन समागम आयोजित किया गया। कीर्तन समागम में विचार करते गुरदेव सिंह ने कहा कि वर्तमान समाज में बहुत से लोग अध्यात्म के मार्ग पर चल रहे हैं पर यह दावा खोखला व आधार हीन प्रतीत होता है, क्योंकि उसके अंदर कहीं भी आध्यात्मिकता झलकती दिखाई नहीं देती। असल रूप में आध्यात्मिक बनने की पहली मुख्य शर्त यह है कि हम अध्यात्म के मूल अर्थ को जान जाएं। अध्यात्म का सीधा संबंध हमारे अंतर जगत के साथ भाव हमारी आत्मा से है। व्यक्ति को आध्यात्मिक बनने के लिए अपने इस अंतर जगत से जुड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यह तभी संभव हो सकता है जब किसी पूर्ण संत सतगुरु की कृपा से दिव्य नेत्र प्राप्त हो जाए। अगर ऐसा नहीं होता तो हमारी हालत उस अंधे व्यक्ति की तरह है जो अपनी चीजों को हाथ पैर से जानने की कोशिश करता है और धोखा खा जाता है। इसलिए अध्यात्म की जानकारी के लिए दिव्य नेत्र की जरूरत है जो पूर्ण सतगुरु की शरण में जोकि ही प्राप्त हो सकता है। इस अवसर पर बड़ी संख्या में संगत उपस्थित थी।

बुट्टर शरींह गांव में दो दिवसीय कीर्तन समागम में उपस्थित संगत।

चिंतपूर्णी धाम के लिए ध्वज यात्रा रवाना, 8 को दरबार में ध्वज फहराएंगे श्रद्धालु
मुक्तसर| जय मां चिंतपूर्णी सेवा कमेटी की ओर से मां चिंतपूर्णी दरबार के दर्शन के लिए पैदल डाक ध्वज यात्रा पुरानी दाना मंडी बाबा खेत्रपाल मंदिर से शुक्रवार को अध्यक्ष सुभाष काली खुंगर की अध्यक्षता में रवाना हुई। यात्रा को रवाना करने की रस्म एडीसी राजपाल सिंह न ने अदा की। यात्रा में कुल 40 श्रद्धालु मां चिंतपूर्णी दरबार के लिए रवाना हुए हैं। श्रद्धालु 08 अप्रैल को सुबह सात बजे चिंतपूर्णी दरबार में ध्वज फहराएंगे। यात्रा रवाना करते समय पूजन में अरविंद पठेला बतौर यजमान शामिल हुए। इस यात्रा को विधि विधान से पूजा अर्चना करके रवाना किया गया। इस दौरान मंदिर प्रांगण मां चिंतपूर्णी के जयकारों से गूंज उठा। इस अवसर पर सुरेन्द्र बांसल, विष्णु बांसल, पप्पी गुंबर, मुन्ना सुखीजा,विजय चढ्ढा, कमल अरोड़ा, रोहित नारंग सहित श्रद्धालु उपस्थित थे। (अमित अरोड़ा)

खबरें और भी हैं...