पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • शादी का झांसा देकर किशोरी से दुष्कृत्य करने वाले युवक को 10 साल की सजा

शादी का झांसा देकर किशोरी से दुष्कृत्य करने वाले युवक को 10 साल की सजा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
17 वर्षीय किशोरी को शादी का झांसा देकर भगा ले जाने और दुष्कृत्य करने के आरोपी युवक को 10 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई। उस पर दो हजार रुपए जुर्माना भी लगाया गया। फैसला मंगलवार को पाक्सो एक्ट विशेष न्यायाधीश तपेश कुमार दुबे की अदालत ने दिया। अभियोजन की ओर से पैरवी जिला लोक अभियोजन अधिकारी आरएस भदौरिया ने की।

जिला अभियोजन कार्यालय के मीडिया सेल प्रभारी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी हरिप्रसाद बांके ने बताया 16 मार्च 2017 को रात करीब 12 बजे डेहरिया निवासी आरोपी दिनेश पिता कांतिलाल भीलखेड़ी निवासी किशोरी के घर पहुंचा। उससे बोला मैं तुझसे शादी करूंगा। कपड़े और गहने दिलवाऊंगा। मेरे साथ चल। किशोरी को बहला-फुसलाकर वह महाराष्ट्र ले गया। जंगल और खेत में रखकर उसके साथ दुष्कृत्य किया। किशोरी जैसे-तैसे भाग कर घर पहुंची। माता-पिता को आपबीती बताई। किशोरी के लापता होने पर उसके पिता ने पिपलोद थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने दिनेश को गिरफ्तार कर जांच-पड़ताल के बाद न्यायालय में चालान पेश किया। मंगलवार को अदालत ने उसे भादंवि की धारा 363 के तहत पांच साल का सश्रम कारावास, 500 रुपए जुर्माना, धारा 366 के तहत पांच साल का सश्रम कारावास, 500 रुपए जुर्माना और धारा 376(2) के तहत 10 साल के सश्रम कारावास और एक हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...