पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पैदल यात्रा करने पर कासलीवाल को सम्मानित किया

पैदल यात्रा करने पर कासलीवाल को सम्मानित किया

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दो हजार किलोमीटर दूर शिखरजी की पैदल यात्रा करने पर जैन समाज ने बोरगांवखुर्द अहिंसा स्थली दयोदय तीर्थ के अध्यक्ष प्रदीप कासलीवाल को सम्मानित किया।

समाज के सचिव सुनील जैन ने बताया प्रदीप कासलीवाल वर्षों से अहिंसा स्थली की भूमि पर गौशाला चला रहे हैं। साथ ही आबना नदी से प्राप्त भगवान आदिनाथ की प्रतिमा जो आचार्य विद्यासागर महाराज के सूर्य मंत्रों से प्रतिष्ठित की थी, का प्रतिदिन पूजा पक्षालन करते हैं। उन्होंने संकल्प लिया था कि शिखरजी की पवित्र भूमि पर 101 वंदना करूंगा। वह लक्ष्य उनका पूर्ण हुआ और लगभग 130 वंदना वे शिखरजी की कर चुके हैं जो अपने आप में एक रिकार्ड है। साथ ही शिखरजी की भूमि पर कोई भी लंबी पैदल यात्रा नहीं करता लेकिन संकल्प के अनुसार प्रदीप कुमार कासलीवाल ने अपनी जन्मभूमि हतनुर (महाराष्ट्र) से 9 दिसंबर से यात्रा शुरू की। लगभग 2000 किमी की पैदल यात्रा तय करते हुए 15 फरवरी 2018 को सम्मेद शिखरजी (झारखंड) पहुंची और उसके पश्चात 9 वंदना निर्जला की गई। जैन समाज में मप्र से प्रदीप कासलीवाल पहले तीर्थ यात्री हैं, जिन्होंने लगभग दो हजार किमी की यह यात्रा पैदल विहार करते हुए पूरी की। प्रदीप कासलीवाल का शिखरजी यात्रा के लिए श्रावगी एवं पोरवाड़ समाज द्वारा शाल श्रीफल एवं सम्मान पत्र प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया। समाज के अध्यक्ष मनोहरलाल बड़जात्या, सचिव सुनील जैन, दिलीप पहाडिय़ा, धनपाल कासलीवाल, गेंदलाल गंगवाल, हुकुम पाटौदी, राजेंद्र छाबड़ा, सुरेश लुहाड़िया, विधायक देवेंद्र वर्मा, पोरवाड़ समाज के अध्यक्ष वीरेंद्र भट्यान, सचिव रंजन जैनी, चिंतामण जैन, प्रेमांशु चौधरी, अविनाश जैन, विपिन जैन, देवेन्द्र सराफ ने सम्मान किया।

दो हजार किमी की यात्रा करने पर प्रदीप कासलीवाल को सम्मानित करते हुए।

खबरें और भी हैं...