Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Kharar» एसडीएम खरड़ लोगों को कर रही पॉलीथीन यूज न करने के लिए जागरूक, मार्केट में बिक रही सरेआम

एसडीएम खरड़ लोगों को कर रही पॉलीथीन यूज न करने के लिए जागरूक, मार्केट में बिक रही सरेआम

कागज के लिफाफे बांटकर लाेगाें को जागरूक करती एसडीएम खरड़। सिटी रिपोर्टर | खरड़ तंदुरूस्त पंजाब मुहिम के तहत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 28, 2018, 02:00 AM IST

एसडीएम खरड़ लोगों को कर रही पॉलीथीन यूज न करने के लिए जागरूक, मार्केट में बिक रही सरेआम
कागज के लिफाफे बांटकर लाेगाें को जागरूक करती एसडीएम खरड़।

सिटी रिपोर्टर | खरड़

तंदुरूस्त पंजाब मुहिम के तहत जहां एक ओर एसडीएम खरड़ की ओर से खरड़ के बाजारों में सेमिनार व रैलियां निकाल कर लोगों को पॉलीथीन बैग का इस्तेमाल न करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। वहीं, खरड़ में पाॅलीथीन बैग पर पूरी तरह पाबंदी होने के बावजूद खरड़ के बाजारों में खुलेआम पॉलीथीन बैग का इस्तेमाल जोरों पर है। नगर काउंसिल खरड़ द्वारा पॉलीथीन बैग की पाबंदी लगाए जाने के बावजूद प्रशासन इस मोर्चे पर पूरी तरह से फेल रहा है।

बुधवार को एसडीएम खरड़ अमनिंदर कौर बराड़, नायब तहसीलदार हरिंदरजीत सिंह, व नगर काउंसिल के चीफ सेनिटरी इंस्पेक्टर राजेश कुमार की टीम ने नगर काउंसिल द्वारा विशेष तौर पर बनाए गए तंदुरूस्त पंजाब (लोगो) वाले अखबार के लिफाफे व्यापार मंडल खरड़ के प्रधान अशोक शर्मा व पार्षद सुमन शर्मा, कमल किशोर शर्मा, मलागर सिंह अाैर कांग्रेस सिटी प्रधान यशपाल बांसल की मौजूदगी में लोगों को मुफ्त बांट कर उन्हें जागरूक किया कि वह पॉलीथीन के लिफाफों के बजाय अखबार के लिफाफों का इस्तेमाल करें ताकि वातावरण को स्वच्छ रखा जा सके। एसडीएम ने लाेगाें को कागज के लिफाफे ही इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया। इससे पहले भी गत सप्ताह एसडीएम ने लोगों को जागरूक किया था। लेकिन लोगइ से नजरअंदाज कर रहे हैं। खरड़ के बाजारों में मंडियों व रेहड़ी-फड़ियों पर खुलेआम पॉलीथीन का इस्तेमाल देखने को मिला। हालांकि खरड़ में पॉलीथीन पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगाई जा चुकी है इसके बावजूद उक्त आदेश सिर्फ दावों तक ही सीमित हैं। यहां तक कि नगर काउंसिल खरड़ में पॉलीथीन के इस्तेमाल को रोकने में पूरी तरह से फेल रही है।

खरड़ को प्रदूषण मुक्त करने के लिए नगर काउंसिल द्वारा पॉलीथीन बैग पर पाबंदी लगाने के लिए 6 नवंबर 2017 को प्रस्ताव पारित कर 15 नवंबर से पॉलीथीन पर पाबंदी लगा दी गई थी। नगर काउंसिल से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पिछले 7 महीनों में काउंसिल द्वारा करीब 19 चालान किए गए हैं जिनमें 13 चालान हाल ही में करीब एक सप्ताह पहले किए गए जिस दौरान एसडीएम ने खरड़ बाजार में जागरूकता रैली निकाली गई। उस दिन अफरा तफरी में नगर काउंसिल की टीम ने बाजार में पॉलीथीन विक्रेताओं और दुकानदारों के चालान किए और पॉलीथीन भी जब्त किया।

कम जुर्मान होने के कारण नहीं रूकते लोग

काउंसिल से मिली जानकारी के अनुसार पॉलीथीन पकड़े जाने पर किए गए चालान को भुगतने में दुकानदार को काउंसिल को समझौता फीस के तौर पर 500 से लेकर 2000 रुपए तक का जुर्माना भुगतना पड़ता है। उक्त 19 में से अधिकतर लोगों को 500 का ही जुर्माना किया गया है। कम जुर्माना राशी होने के कारण दुकानदार भी अब चालान की परवाह किए बगैर ही पॉलीथीन बेच रहे हैं। इस संबंध में नगर काउंसिल के चीफ सेनिटरी इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि उनकी ओर से समय-समय पर बाजार में चेकिंग की जाती है कई बार दुकानदारों के चालान किए और कई बार सामान भी जब्त कर चुके हैं। अब रोजाना बाजार में पहरा देनाे भी संभव नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×