पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सूखा गिला कचड़ा को अलग करने के लिए हुई कार्यशाला

सूखा-गिला कचड़ा को अलग करने के लिए हुई कार्यशाला

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खूंटी | नगर पंचायत की ओर से कचड़े को दो भाग में बांटने के लिए शुक्रवार को सफाई कर्मचारियों के बीच कार्यशाला हुई। इसका मुख्य उद्देश्य कचड़े को दो अलग-अलग भागों में बांटे के बारे में लोगों को जागरूक करना था। अध्यक्षता कार्यपालक पदाधिकारी मेघना रुबी कच्छप ने की। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में गीला कचड़ा व सूखा कचड़ा के लिए अलग-अलग कुड़ादान रखना होगा। इसके लिए खूंटी की आम जनता से उन्होंने सहयोग की अपील की है। सूखा कचड़ा के अंतर्गत पेपर, बैट्री, प्लास्टिक, कांच, रबर, दवाई की पत्ती इत्यादि आते हैं जबकि गीला कचड़ा में सब्जियां, फल के छिलके, नारियल, अंडे के छिलके, पत्ते, चायपत्ती, बासी खाना व हड्डी मांस इत्यादि आते हैं। कार्यपालक पदाधिकारी ने लोगों से यह भी अपील की कि वे ब्लेड व अन्य धारदार चीजें कागज में लपेटकर कूड़ेदान में डालें ताकि सफाई-कर्मचारियों की अंगुली कटने का खतरा कम हो। कार्यशाला में नगर प्रबंधक विजय कुमार, कुमार विवेक सिन्हा, किरण केरकेट्टा, जुबैदा, अंजु, राजेश कुमार, संजय कुमार, राहुल कुमार, विरेंद्र नाग आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...