पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पदोन्नति से छूटे रेल कर्मचारियों में जीडीसीई से बंधी उम्मीद, मिलेगा प्रमोशन का लाभ

पदोन्नति से छूटे रेल कर्मचारियों में जीडीसीई से बंधी उम्मीद, मिलेगा प्रमोशन का लाभ

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लंबे संघर्ष के बाद रेलवे के उन कर्मचारियों के लिए प्रमोशन का रास्ता साफ हो गया है जो वर्षों से एक ही पद पर सेवा दे रहे हैं। रेल प्रबंधन ऐसे कर्मचारियों के हित में निर्णय नहीं ले पा रहा था। इसके लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे यूनियन मजदूर कांग्रेस ने लंबी लड़ाई लड़ी। जिसका नतीजा अब जाकर रेल कर्मचारियों के हित में आया है। सामान्य विभागीय प्रतिस्पर्धी परीक्षा (जीडीसीई) से प्रमोशन पाने वाले कर्मचारियों का पद खाली होगा और उन पदों पर नई नियुक्ति होगी। रेल प्रबंधन ने 329 पदों का नोटिफिकेशन जारी करने का आश्वासन दिया है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, बिलासपुर जोन का मान्यता प्राप्त यूनियन मजदूर कांग्रेस चुनाव जीतने के बाद से ही रेल कर्मचारियों जीडीसीई का लाभ दिलाने लड़ाई सभी मंचों से लड़ रही थी। मजदूर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टीकेएस प्रकाश ने बताया कि जनवरी में रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष के बिलासपुर आगमन पर मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष तपन चटर्जी, मंडल समन्वयक बी कृष्ण कुमार ने इस मांग को रखा था। इसके बाद बिलासपुर में अफसरों में लगातार पत्राचार किया गया और बैठक के दौरान कर्मियों की कमी दूर करने के लिए नई भर्ती करने दबाव बनाया। संगठन के महामंत्री केएस मूर्ति, बी कृष्णकुमार ने वरिष्ठ अफसर से चर्चा करने के बाद इस मुद्दे का निराकरण करने की मांग रखी। इस पर सीपीओ बिलासपुर ने जीडीसीई अधिसूचना जारी करने बाबत फाइल रेलवे भर्ती सेल आरआरसी को भेज दी है। उम्मीद की जा रही है कि शीघ्र ही 329 पदों पर नई भर्ती करने का आदेश जारी हो जाएगा। इसके तहत एएलपी एंड टेक्नीशियन, गुड्स गार्ड, जेई, पैरा मेडिकल स्टाफ का प्रमोशन योग्यता अनुसार किया जा सकेगा। प्रमोशन होने के बाद रिक्त हुए पदों पर कर्मियों की भर्ती की जाएगी।

जानें क्या है जीडीसीई

सामान्य विभागीय प्रतिस्पर्धी परीक्षा (जीडीसीई) है। इससे शुद्ध प्रत्यक्ष भर्ती रिक्तियों का 25 प्रतिशत पद भरने के लिए इंडेंट अन्यथा आरआरबी से पहले रखा जाना आवश्यक है। आरआरबी में सीधी भर्ती के लिए योग्यता रखने वाले विभाग के बावजूद नियमित रेलवे कर्मचारी जीडीसीई के लिए पात्र होंगे। केवल ग्रेड में से कम कर्मचारी जिनके लिए एलडीसीई आयोजित की जा सकती है। सामान्य उम्मीदवारों के लिए 40 की अधिकतम आयु सीमा व अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लिए 45 वर्ष आयु सीमा तय है।

खबरें और भी हैं...