पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 83 गांवों के ग्राम सचिवालय में काम शुरू, पंचायतें कर सकेंगी सभाएं

83 गांवों के ग्राम सचिवालय में काम शुरू, पंचायतें कर सकेंगी सभाएं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिला के 83 गांव की पंचायतों में ग्राम सचिवालय बना दिए गए हैं तथा इनमें अब कार्य भी शुरू हो चुका है। ग्राम सचिवालय बनाकर पंचायत को सुविधा प्रदान करने की दिशा में सरकार द्वारा इनका निर्माण कराया जा रहा है। डीसी पंकज ने बताया कि ग्राम सचिवालयों में सरपंच व पंचायत के सदस्य बैठक कर सकते है तथा ग्राम सभा की बैठक बुलाकर निर्णय ले सकते हैं। ग्राम सचिवालय से सभी सुविधाएं एक छत के नीचे मिल सकेंगी। यहां पर ग्राम सरपंच से लेकर ग्राम सचिव और पटवारी भी निर्धारित समय पर बैठेंगे।

उन्होंने बताया कि देश में एक लाख से ज्यादा ग्राम पंचायत डिजिटल सेवाएं मुहैया कराने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। देश भर में ढ़ाई लाख के करीब ग्राम पंचायत हैं जिनके तहत करीब छह लाख गांव आते हैं। काफी पंचायतों में ऑप्टिक फाइबर केबल बिछा दिया गया है, अब ये सभी ग्राम पंचायत डिजिटल सेवा मुहैया कराने को तैयार हैं अब इन सभी ग्राम पंचायतों में 100 मेगा बिट प्रति सेकेंड यानी एमबीपीएस की गति से इंटरनेट सेवा मुहैया कराना है।

गांवों में बनाए गए सचिवालयों में मिल सकेंगी कई प्रकार की सुविधाएं, सीएससी सेंटर भी खुलेंगे
रेवाड़ी ब्लॉक के 15 गांवों में सुविधा

रेवाड़ी ब्लॉक के गांव मसानी, हासांका, माजरा गुरदास, मुंढलिया, भगवानपुर, बूढपुर, चांदावास, करनावास, ठोठवाल, हुसैनपुर, भुरथल जाट, आकेड़ा, नंदरामपुर बास, महेश्वरी, लिसाना में ग्राम सचिवालय शुरू हो चुके हैं।

बावल ब्लॉक में भी 15 गांव में शुरू

बावल ब्लॉक के गांव खंडोड़ा, बालावास, सुठाना, सुलखा, खाटूवास, हरचंदपुर, केशोपुर, बोलनी, बधराना, डयोढई, रालियावास, अलावलपुर, बनीपुर, नैचाना, आसियाकी टप्पा जडथल शामिल हैं।

खोल ब्लॉक के 12 गांव शामिल

खंड खोल के गांव मामडिया आसमपुर, गोठडा टप्पा खोरी, भांडोर, मनेठी, पीथडावास, ढाणी सुंदरोज, राजियाकी, खालेटा, चिमनावास, हरजीपुर, कुण्डल व ढाणी संतो शामिल है।

नाहड ब्लॉक के भी 15 गांवों में शुरू

नाहड खंड के गांव कोसली, गुडियानी, लूलाअहीर, लिलोढ़, मून्दड़ा, रतनथल, जखाला, जुड्डी, भाला, टूमना, कुहारड, लूखी, नेहरूगढ़, भाकली-1, नाहड शामिल किया गया है।

जाटूसाना ब्लॉक में 15 गांवों में सुविधा

खंड जाटूसाना के गांव मस्तापुर, चौकी नंबर-1, मुढिया खुर्द, पाल्हावास, जाटूसाना, परखोतमपुर, बिहारीपुर, मोहदीनपुर, मुरलीपुर, जीवड़ा, राजावास, गुरावडा, आसियाकी गोरावास, बालावास जमापुर व कन्होरी हैं।

डहीना ब्लॉक के 11 गांव शामिल

डहीना खंड के गांव जिनमें दड़ौली, लुहाना, बास, बुड़ौली, ढाणी ठेठराबाद, रोलियावास, धवाना, आलियावास, गुलाबपुरा, कंवाली, औलांत शामिल है।

24 गांवों में खोले जा रहे हैं सीएससी सेंटर
जिला के 83 गांवों में से 69 गांवों में फर्नीचर व कम्प्यूटर की पूरी व्यवस्था है। उन्होंने बताया कि जिला रेवाड़ी के 24 गांव मसानी, हासांका, बूढपुर, करनावास, खंडोड़ा, सुलखा, बोलनी, मामडिया आसमपुर, गोठडा टप्पा खोरी, पीथड़ावास, ढाणी सुन्दरोज, राजियाकी, कोसली, गुडियानी, लिलोढ़, रतनथल, नाहड, मस्तापुर, पाल्हावास, गुरावडा, लुहाना, बुड़ौली, धवाना, कंवाली में कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) स्थापित किए हैं, ताकि लोगों को ऑनलाइन सुविधा के लिए दूर न जाना पड़े।

खबरें और भी हैं...