पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • टिपर व्यवस्था में सुधार नहीं, निगम ने ब्लैकलिस्टेड की फर्म

टिपर व्यवस्था में सुधार नहीं, निगम ने ब्लैकलिस्टेड की फर्म

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा | शहर में शुरू की गई डोर-टु-डोर सफाई व्यवस्था में बरती जा रही लापरवाही के कारण न तो जनता को लाभ मिल पा रहा है और न ही इसका उद्देश्य पूरा हो पा रहा है। बार-बार नोटिस के बाद भी जब इस व्यवस्था में लगी फर्म ने कोई सुधार नहीं करने के कारण नगर निगम आयुक्त डॉ. विक्रम जिंदल ने रामकृष्ण विद्या समिति को ब्लैक लिस्टेड कर उन्हें निगम की ओर से दिए गए टिपर को गैरेज में खड़ा करवा दिया।

आयुक्त ने इस फर्म के टिपर पर जीपीएस सिस्टम लगवाया था। जिसकी मॉनिटरिंग में पाया कि टिपर घर-घर कचरा संग्रहण नहीं कर रहे, केवल मुख्य मार्गों पर दौड़ रहे हैं। इस कारण घर-घर कचरा संग्रहण का उद्देश्य ही खत्म हो गया। फर्म संचालक का टिपर कर्मचारियों पर कोई कंट्रोल नहीं है। इसमें आपकी फर्म द्वारा केवल खानापूर्ति ही की जा रही है। शर्तों का भी उल्लंघन किया जा रहा है। इस कारण फर्म को ब्लैक लिस्टेड किया जाता है और जो टिपर दिए गए हैं, उन्हें वापस गैराज में जमा करवाने के आदेश दिए गए हैं। इस फर्म को दो बार पहले भी नगर निगम द्वारा नोटिस दिया गया था तथा एक बार पैनल्टी भी लगाई गई थी।

खबरें और भी हैं...