पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • 75 लाख के चेक बाउंस के मामले में महिला को 2 साल की सजा

75 लाख के चेक बाउंस के मामले में महिला को 2 साल की सजा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
75 लाख के चेक बाउंस के 20 साल पुराने मामले में अदालत ने आरोपी मैसर्स किलोन फाइनेंस एंड इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड जयपुर की डायरेक्टर ममता को 2 साल की सजा सुनाई है। साथ ही डेढ़ करोड़ का प्रतिकर देने का आदेश दिया है। वहीं दूसरे आरोपी मैसर्स मानसिंहका आयल प्रोडक्ट प्राइवेट लिमिटेड गोविंदपुर, बूंदी के मैनेजिंग डायरेक्टर वीरेंद्र कुमार मानसिंहका को बरी कर दिया गया।

अदालत ने आदेश दिया कि अन्य आरोपी चेयरमैन महावीर प्रसाद मानसिंहका को हाईकोर्ट के आदेश पर 15 जनवरी 2013 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। परिवादी द्वारा आरएन निमोदिया के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहने पर उसके खिलाफ कार्रवाई ड्रॉप की जा चुकी है। वकील दिनेश चावला ने बताया कि नई धानमंडी स्थित मैसर्स भागचंद जैन एंड संस के पार्टनर सुनील जैन ने 20 साल पहले एनआईएक्ट की धारा 138 के तहत अदालत में इस्तगासा दायर किया था। इसमें ममता, वीरेंद्र कुमार मानसिंहका और अन्य को आरोपी बनाया था। इसमें कहा था कि आरोपियों को परिवादी की रकम की अदायगी करनी थी।

इस राशि की आंशिक अदायगी में उन्होंने हस्ताक्षरयुक्त फेडरल बैंक लिमिटेड जयपुर का 75 लाख रुपए का चेक दे दिया। लेकिन चेक बाउंस हो गया। अदालत ने मामले में सुनवाई पूरी कर आरोपी ममता को 2 साल की सजा सुना दी। साथ ही डेढ़ करोड़ का प्रतिकर देने का आदेश दे दिया।

खबरें और भी हैं...