पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेअसर रही कोटा बंद की घोषणा, रैली निकाली

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा | अनुसूचित जनजाति में आरक्षण, केवट बोर्ड की स्थापना और प्रत्येक जिले में छात्रावास के लिए भूमि का आवंटन की मांग को लेकर कहार, कीर, केवट, भोई, धीमर, मेहरा, कश्यप समाज आरक्षण संघर्ष समिति ने मंगलवार को राजस्थान बंद की घोषणा की थी, लेकिन यह घोषणा बेअसर रही। शहर में एक भी दुकान नहीं बंद करा सके और पुलिस की सख्ती के आगे उनकी एक नहीं चली और प्रदर्शनकारियों ने रैली निकालते हुए कलेक्टर को ज्ञापन दिया। वहीं, उमाशंकर कहार ने कहा पुलिस ने हमारा आंदोलन कुचल दिया।

समिति के प्रदेश समन्वयक उमाशंकर कहार ने एक दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि मंगलवार को राजस्थान व कोटा बंद कराएंगे। पहले निवेदन करेंगे और नहीं मानेंगे तो जबरन बंद कराएंगे। मंगलवार को और कुछ ही नजारा रहा। सुबह 9 बजे छावनी चौराहे पर एकत्र होने वाले 10.30 बजे तक पहुंचे। एक घंटे तक रणनीति बनाने में लगे रहे। इससे पहले 8 बजे से छावनी चौराहे पर भारी पुलिस बल तैनात हो गया था। चार सीआई लगे हुए थे और उनका नेतृत्व में डीएसपी मनोज कुमार कर रहे थे। वहां दमकल, स्पेशल फोर्स, आंसू गैस के गोले छोड़ने वाले वाला जाब्ता तक तैनात था। उमाशंकर कहार के नेतृत्व में कार्यकर्ता वहां खड़े रहे। इस दौरान पुलिस के अधिकारियों से उनकी बहस भी हुई। गुमानपुरा सीआई आनंद व बोरखेड़ा सीआई लोकेंद्र पालीवाल ने कहा कि बंद को व्यापारियों ने समर्थन नहीं दिया है।

खबरें और भी हैं...