Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Kurali» लाखों खर्च कर हाई-मास्ट लाइट पोल तो लगाए पर लाइटें पड़ी बंद, रहता हैं अंधेरा

लाखों खर्च कर हाई-मास्ट लाइट पोल तो लगाए पर लाइटें पड़ी बंद, रहता हैं अंधेरा

शहर में लगे हाई मास्ट लाईट पोल पर लगी लाइटें न जलने के कारण स्थानीय लोगों को रात के समय आवाजाही में भारी परेशानी हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 27, 2018, 02:00 AM IST

लाखों खर्च कर हाई-मास्ट लाइट पोल तो लगाए पर लाइटें पड़ी बंद, रहता हैं अंधेरा
शहर में लगे हाई मास्ट लाईट पोल पर लगी लाइटें न जलने के कारण स्थानीय लोगों को रात के समय आवाजाही में भारी परेशानी हो रही है। विश्वकर्मा चौक पर लगे हाई मास्ट लाईट पोल की लाइटें काफी समय से बंद पड़ी हैं। इस कारण यह एरिया रात के समय अंधेरे में डूबा रहता है। चौराहा होने के कारण और मेन हाईवे होने के कारण यहां पर ज्यादा आवाजाही रहती है। अंधेरे की वजह से यहां अकसर हादसे होते रहते हैं। लेकिन नगर काउंसिल अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे। वहीं कुराली टी-प्वांइट पर हाई मास्ट लाईट पोल पिछले डेढ़ साल से अपने लगने का इंतजार कर रहा है। जो कि एक एक्सीडेंट में टूट गया था। वहीं शहर के बाजार का मुख्य भगवान परशुराम चौक इन दिनों रात के समय अंधकार में डूबा हुआ नजर आता है। इसकी वजह से रात के समय यहां से आने जाने वाले लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। पिछले कई दिनों से भगवान परशुराम चौक के पास लगे हुए हाई-मास्ट लाईट पोल पर लगी हुई लाइटें नहीं जल रहीं। इस कारण यहां आस-पास के दुकानदारों को भी परेशानी हो रही है। वहीं, शहर का मेन चौराहा होने से यहां से निकलने वाले लोगों को दिक्कत पेश आ रही है। लेकिन इस ओर नगर काउंसिल अधिकारियों का कोई ध्यान नहीं जा रहा। लोगों ने नगर काउंसिल से मांग की है कि जल्द से जल्द इन्हें ठीक करवाया जाए।

इस संबंध में जब नगर काउंसिल के कार्यकारी अधिकारी राजेश कुमार शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह जल्द ही इन लाइटों को ठीक करवा देंगे, जिससे लोगों को दिक्कत नहीं आएगी।

क्या कहते हैं लोग...शहर निवासी शामल सूद का कहना है कि रात के समय अकसर लोग खाना खाकर घरों से सैर के लिए निकलते हैं और ज्यादातर लोग इसी रास्ते से होकर गुजरते हैं। लेकिन पिछले कई दिनों से लाइटें बंद होने के कारण लोग इस रास्ते से गुजरने से हिचकिचा रहे हैं। क्योंकि कुछ दिनों पहले ही इसी रास्ते से थोड़ी आगे जाकर एक महिला से रात के समय एक पर्स स्नैच कर लिया गया था। नगर काउंसिल को इस समस्या की ओर ध्यान देना चाहिए। अगर यहां की लाइटें जल्द नहीं जली तो यहां और वारदात होने की संभावना बनी रहेगी।

शहरनिवासी उमेश शर्मा का कहना है कि चौक के पास फ्रूट और सब्जी बेचने वालों की कई दुकानें हैं। जो कि अकसर बची हुई वेस्टेज को चौक के पास ही रख देते हैं। जहां अकसर लावारिस पशु इन चीजों को खाने के लिए घूमते रहते हैं। इस चौक पर अंधेरा होने की वजह से कोई भी वाहन चालक इनसे टकरा कर घायल हो सकता है। वहीं रात के समय में आने जाने वाले लोगों पर उग्र होकर यह लावारिस पशु हमला भी कर सकते हैं क्योंकि अंधेरा होने के कारण यहां घूम रहे लावारिस पशु दिखाई नहीं देते। नगर काउंसिल को जल्द से जल्द इन लाइटों को ठीक करवाना चाहिए।

शहरनिवासी दुकानदार रजिंदर गुंबर का कहना है कि इस चौक के आस-पास बहुत सी दुकानें हैं। रात के समय लाइटें न जलने के कारण पूरा एरिया अंधेरे में डूबा रहता है। जिसकी वजह से कोई भी असामाजिक तत्व अंधेरे का फायदा लेते हुए चोरी जैसे अपराध को अंजाम दे सकता है। प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kurali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×