• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Kurali
  • किशनपुरा-कलाल माजरा में एक हफ्ते से वॉटर सप्लाई ठप, लोगों ने कोसा प्रशासन को
--Advertisement--

किशनपुरा-कलाल माजरा में एक हफ्ते से वॉटर सप्लाई ठप, लोगों ने कोसा प्रशासन को

गांव किशनपुरा और कलाल माजरा में पिछले एक सप्ताह से पीने वाले पानी की सप्लाई ठप होने कारण गांव वासियों को भारी...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 02:00 AM IST
गांव किशनपुरा और कलाल माजरा में पिछले एक सप्ताह से पीने वाले पानी की सप्लाई ठप होने कारण गांव वासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पानी की बूंद-बूंद को तरस रहे गांव वासियों ने वीरवार को जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गांव में पीने वाले पानी की सप्लाई को पहल के आधार पर चालू करने की मांग की।

सप्लाई चालू न होने पर नेशनल हाईवे पर करेंगे ट्रैफिक जाम: इस रोष प्रदर्शन के दौरान गांव निवासी सतवीर सिंह बैंस, गुरप्रीत सिंह, अमृतपाल सिंह, भूपिंद्र सिंह, रजिन्द्र सिंह, सुलतान सिंह, सुखविन्द्र सिंह, अवतार सिंह और अन्य ने बताया कि सरकार की ओर से लाखों रुपए खर्च करके गांव वासियों को पीने वाले पानी की सप्लाई देने के लिए गांव किशनपुरा में ट्यूबवेल लगाया गया था और पानी की टंकी बनाई गई। जिससे गांव किशनपुरा के अलावा गांव कलाल माजरा को पीने वाले पानी की सप्लाई दी जा रही है। जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग की ओर से पीने वाले पानी के ट्यूबवेल में डाली गई मोटर पिछले करीब 6 महीनों से खराब पड़ी है। इस कारण उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वे पहले तो अपने खेतों में लगे ट्यूबवेलों से पानी लाकर घर का काम चलाते रहे। उन्होंने कहा कि इस समस्या संबंधी वे कई बार अधिकारियों को जानकारी दे चुके हैं लेकिन किसी ने उनकी इस समस्या को हल करने के लिए कोई गंभीरता नहीं दिखाई।

पिछले साल भी गर्मियों में मंगवाए थे पानी के टेंकर... कुलविन्द्र सिंह कलाल माजरा ने बताया कि पिछले साल गर्मियों में भी उनको पानी टेंकरो से पहुंचाया गया, लेकिन पक्के तौर पर कोई हल नहीं हो सका। गांव वासियों ने बताया कि इसी दौरान जब उन्होंने इस संबंधी विभाग के प्रति रोष व्यक्त किया तो विभाग की ओर से गत डेढ़ महीने पहले खेतों की सिंचाई के लिए गांव से बाहर लगे ट्यूबवेल की पाइप लाइन गांव वासियों को पीने वाले पानी की पाइप लाइन से जोड़ दी। जिस दौरान गांव वासी सिंचाई वाले ट्यूबवेल का पानी पीते आ रहे हैं। सुखविन्द्र सिंह और सतवीर सिंह ने बताया कि अब गत सप्ताह से सिंचाई वाले ट्यूबवेल से भी पीने के पानी की सप्लाई ठप हो गई है। गांव वासियों ने बताया कि भीषण गर्मी में पानी की ज्यादा जरूरत है लेकिन उनको पानी की बूंद-बूंद के लिए तरसना पड़ रहा है।

गांव में पीने के पानी की समस्या हल करवाएंगे: एसडीएम

इस संबंधी जब जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग के संबंधित जेई कुलदीप सिंह से संपर्क करने की कोशिश की तो उन्होंने फोन नहीं उठाया, जबकि एसडीएम हरजोत कौर ने संपर्क करने पर बताया कि गांवों में पानी की समस्या संबंधी मामला उनके ध्यान में नहीं है। उन्होंने गांवों में पीने वाले पानी की समस्या को एक्सईएन के साथ संपर्क करके हल करवाने का भरोसा दिया।