• Hindi News
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Kurali
  • पंजाबी लिखारी सभा की मीटिंग में साहित्यकारों ने कुराली में पेश की रचनाएं
--Advertisement--

पंजाबी लिखारी सभा की मीटिंग में साहित्यकारों ने कुराली में पेश की रचनाएं

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:05 AM IST

Kurali News - कुराली| पंजाबी लिखारी सभा की एक मीटिंग स्थानीय खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में हुई। इस मीटिंग के दौरान साहित्यक...

पंजाबी लिखारी सभा की मीटिंग में साहित्यकारों ने कुराली में पेश की रचनाएं
कुराली| पंजाबी लिखारी सभा की एक मीटिंग स्थानीय खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में हुई। इस मीटिंग के दौरान साहित्यक विचार-विमर्श करने के अतिरिक्त साहित्यकारों ने रचनाएं पेश की। साहित्यक दौर की शुरुआत हरदीप गिल ने गीत ‘मैथो दंसेया नी जांदा’ गाकर की। इसके बाद महावीर माजरी ने कहानी दर्द, सुच्चा सिंह अंधरेड़ा ने कविता रब्ब दा निजाम, चंचल सिंह तरंग ने लेख गरीब बस्ती, सुरजीत जीत ने गजल गौड़ अल्ला वाहेगुरु, शीतल सहौड़ा ने गजल, मोहन पपराला ने मिन्नी कहानी रोमी घड़ामें वाला तथा जलौर सिंह खीवा ने रचनाएं पेश की। सभा के प्रधान कुलवंत सिंह मावी ने साहित्यकारों का आभार व्यक्त करते हुए अच्छी सोच और समाज का मार्ग दर्शन करने वाले साहित्य की रचना करने की जरूरत पर जोर दिया।

X
पंजाबी लिखारी सभा की मीटिंग में साहित्यकारों ने कुराली में पेश की रचनाएं
Astrology

Recommended

Click to listen..