• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Kurali
  • बिजली के खंभे लगाने पर पाइप लाइन टूटने से किसानों ने जताया रोष
--Advertisement--

बिजली के खंभे लगाने पर पाइप लाइन टूटने से किसानों ने जताया रोष

कुराली बाइपास प्रोजेक्ट के तहत बिजली की तारों को ऊपर उठाने के लिए लगाए जाने वाले खंभों की खुदाई के कारण किसानों...

Danik Bhaskar | Jun 26, 2018, 01:55 PM IST
कुराली बाइपास प्रोजेक्ट के तहत बिजली की तारों को ऊपर उठाने के लिए लगाए जाने वाले खंभों की खुदाई के कारण किसानों द्वारा सिचाई के लिए डाली गई पाइप लाइन टूटने के कारण कई एकड़ फसल के नुकसान की आशंका के कारण गांव ने रोष व्यक्त करते हुए मुआवजे की मांग की है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए सिंघपुरा के किसान पूर्व सरपंच जगनाहर सिंह, हरनेक सिंह, नंबरदार इंद्रजीत सिंह, गुरनाम सिंह, अमनदीप सिंह, दर्शन सिंह, गुरमीत सिंह, नथू खान, हरजीतपाल सिंह सहित अन्य ने बताया कि उनके गांव की जमीन में से निकल रहे बाइपास कारण बिजली की तारों को ऊपर उठाने के लिए नए खंभे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कहा कि यहां पर लगाए जा रहे खंभे के लिए कंपनी द्वारा काफी गहराई तक खुदाई की गई है। खुदाई करते समय जेसीबी मशीन ने उनके खेतों को जाने वाली सिचाई की पाइप लाइन को भी तोड़ दिया है। इसके अतिरिक्त एक खेत के कोने की खुदाई के कारण लगभग 4 एकड़ धान में भरा पानी भी कुछ ही समय में निकल गया। किसानों ने कहा कि पाइप लाइन टूटने के कारण कई एकड़ जमीन की सिचाई ठप होकर रह गई है। जबकि गर्मी के मौसम कारण फसल का नुकसान होना स्वभाविक है। किसान अमनदीप सिंह और अन्य ने बताया कि उनके खेत के बिल्कुल कोने में की जाने वाली खुदाई संबंधी उनको पहले कोई सूचना नहीं दी गई और ना ही कोई नोटिस दिया गया। ताकि, वे पहले कोई ठोस प्रबंध कर सकते हैं। किसानों ने रोष व्यक्त करते हुए नुकसान की पूर्ति की मांग की है।

इस संबंधी संपर्क करने पर कुराली बाइपास के प्रोजेक्ट मैनेजर दविन्द्रपाल सिंह ने कहा कि बिजली का खंभा लगाने के लिए किए जा रहे काम कारण हुए नुकसान का मामला उनके ध्यान में आया है। किसानों को बता कर खुदाई की गई थी लेकिन नए सिरे से नोटिस नहीं दिए जा सकते। उन्होंने बताया कि जेसीबी मशीन के साथ की जा रही खुदाई कारण अचानक पाइप लाइन टूटी है जिसको ठीक करवा दिया जाएगा।

कुराली के सिंघपुरा में किसान सिंचाई की पाइप लाइन टूटने को लेकर रोष व्यक्त करते हुए।