पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • महंत बोले महासभा के सदस्यों ने धमकाया, टेंट भी उखाड़ना चाहा, सभा बोली स्टे आर्डर दिखाने गए थे

महंत बोले-महासभा के सदस्यों ने धमकाया, टेंट भी उखाड़ना चाहा, सभा बोली-स्टे आर्डर दिखाने गए थे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ठाकुरद्वारा नाभीकमल मंदिर व जाट महासभा के बीच तीन एकड़ जमीन को लेकर फिर से विवाद गर्माने लगा है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मंदिर को प्रशासन द्वारा कब्जा दिलाने के 28 दिन बाद शुक्रवार को जाट समाज के लोगों द्वारा मौके पर पहुंच काम रुकवाने का मामला सामने आया है। महंत ने आरोप लगाया कि सभा सदस्यों ने आकर उन्हें धमकाया। साथ ही टेंट उखाड़ने व धमकाया भी। वहीं सभा प्रधान ने इन आरोपों को गलत बताया।

उन्होंने कहा कि वे लोग सिर्फ केस से संबंधित बात बताने के लिए गए थे। महंत ने इस मामले में पुलिस को भी शिकायत की। इस पर पुलिस ने दोनों पक्षों को तलब किया है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक इस संबंध में कोई केस दर्ज नहीं हुआ था। मंदिर महंत विशाल मणि का आरोप है कि शुक्रवार 12 बजे के करीब जाट समाज के 20 से अधिक लोग मौके पर आए। इतना ही नहीं मौके पर लगाया टेंट भी उखाड़ने का प्रयास किया। साथ ही मंदिर की जगह में चल रहा चारदीवारी बनवाने का काम भी रुकवा दिया। उन्हें धक्के देकर मौके से उठकर भागने को कहा। बताया कि प्रधान अंग्रेज सिंह की अगुवाई में जाट समाज के 20 के करीब लोग वहां पहुंचे। चारदीवारी बनाने का काम रुकवा दिया। इसके बाद उन्होंने थर्ड गेट चौकी पहुंच उक्त सभी के खिलाफ शिकायत दी।

महंत ने दी चौकी में शिकायत, दोनों पक्षों को पुलिस ने तलब किया
आरोप निराधार हैं : अंग्रेज सिंह
जाट महासभा के प्रधान अंग्रेज सिंह ने कहा कि यह आरोप निराधार हैं कि उन्होंने महंत के साथ किसी तरह का गाली-गलौज नहीं किया। कोर्ट स्टे की प्रति महंत को देने महासभा सदस्य गए थे। स्टे की प्रति महंत को देकर काम रोकने का आग्रह किया था। महंत कोर्ट स्टे अनुसार फिलहाल मौके पर काम नहीं कर सकते। आर्डर में मौके पर जो स्वरूप है, उसमें छेड़छाड़ न करने संबंधी लिखा गया है। महंत को उक्त आदेश बारे अपने वकील को दिखाने की कहकर वापस आ गए थे।

कोर्ट का कोई आर्डर नहीं : महंत
महंत विशाल मणि का कहना है कि कोर्ट का ऐसा कोई आर्डर नहीं, जिसके अनुसार मौके पर निर्माण कार्य नहीं हो सकता। जिस कोर्ट आर्डर को उक्त लोग निर्माण न करने पर स्टे बता रहे हैं। वह आर्डर जमीन को बेचने पर रोक संबंधी है। थर्ड गेट चौकी प्रभारी जयकरण ने भी माना कि यह आर्डर महंत द्वारा उक्त जमीन को बेचने पर स्टे संबंधी है। चौकी प्रभारी ने कहा पुलिस ने किसी तरह का काम मौके पर नहीं रुकवाया।

कुरुक्षेत्र |थर्ड गेट चौकी में अपना पक्ष रखने पहुंचे जाट महासभा के कार्यकारी प्रधान अंग्रेज सिंह व अन्य।

टेंट उखाड़ने की बात सामने नहीं आई: चौकी प्रभारी
थर्ड गेट चौकी प्रभारी जयकरण ने कहा कि दोनों पार्टी को चौकी बुलाया था। साथ ही मौका निरीक्षण भी किया, लेकिन गाली-गलौज या टेंट उखाडऩे जैसी कोई बात सामने नहीं आई। महासभा सदस्यों का कहना है कि महंत को स्टे संबंधी कागजात दिखाने गए थे। दोनों पक्ष कागजात अपने वकीलों को दिखा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...