• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Lalru
  • लालडू़ में बाहरी वाहनों को रोककर बेवजह किया जा रहा था परेशान, ट्रैफिक इंचार्ज समेत स्टाफ बदला
--Advertisement--

लालडू़ में बाहरी वाहनों को रोककर बेवजह किया जा रहा था परेशान, ट्रैफिक इंचार्ज समेत स्टाफ बदला

लालडू़ में ट्रैफिक इंचार्ज समेत ट्रैफिक पुलिस का तमाम स्टाफ एकाएक तबदील कर दिया गया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 03:25 AM IST
लालडू़ में ट्रैफिक इंचार्ज समेत ट्रैफिक पुलिस का तमाम स्टाफ एकाएक तबदील कर दिया गया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब पूरा का पूरा स्टाफ तबदील कर दिया गया हो। हालांकि, जिला पुलिस इस ट्रांसफर को रुटीन कार्रवाई बता रही है। परंतु, एक साथ ट्रांसफर के पीछे ट्रैेफिक पुलिस पर बाहरी वाहनों को रोककर तंग परेशान किए जाने की शिकायतों को कारण बताया जा रहा है। तबदील हुए स्टाफ के पीछे नया स्टाफ अभी तक तैनात नहीं किया गया है। जिस कारण दो दिनों से हाईवे समेत लालडू़ में ट्रैफिक व्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

लालडू़ में एएसआई बतौर ट्रैफिक इंचार्ज तैनात थे। जबकि, उनके साथ हवलदार व कांस्टेबल्स समेत सात पुलिस कर्मियों का अमला मौजूद था। अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे पर झरमड़ी, लालड़ू, आईटीआई चौक व लैहली चौक के अलावा दप्पर टोल प्लाजा तक की निगरानी इसी स्टाफ के जिम्मे थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार ट्रैफिक आवाजाही में सहुलितयत प्रदान करने से अधिक दिलचस्पी ट्रैफिक कर्मी पंजाब को छोड़कर बाहरी प्रदेशों से रजिस्टर्ड वाहनों में ली जा रही थी। बाहरी वाहनों को रोककर उनके दस्तावेज इत्यादि की जांच के बहाने वाहन चालकों व सवारों को तंग परेशान किया जा रहा था। सोशल मीडिया पर इस बारे शिकायतें व एतराज न केवल वायरल हो रहे थे। बल्कि स्थानीय ही नहीं, जिला पुलिस तक भी पहुंच रहे थे। बताया जा रहा है कि इसी चलते इंचार्ज समेत पूरे स्टाफ को बदलने की नौबत आई थी। इस बारे लालडू़ के थाना प्रभारी अमरप्रीत सिंह ने इतना ही बताया कि इंचार्ज समेत पूरे स्टाफ की ट्रांसफर जिला पुलिस ने की है। एसएचओ ने कहा कि नया स्टाफ के ऑर्डर होने का पता चला है परंतु अभी ज्वाइनिंग नहीं हुई है। ट्रांसफर कहां हुई और किस वजह से हुई, इस बारे अमरप्रीत ने जिला पुलिस अधिकारियों से बात करने को कहा। मोहाली जिले के एसएसपी कुलदीप चाहल ने कहा कि पूरे स्टाफ की ट्रांसफर की गई है। यह पूछने पर कि उनके खिलाफ बाहरी प्रदेशों की गाड़ियां वेबजह रोकने की शिकायतें थी, एससपी ने कहा कि ये रुटीन की ट्रांसफर है और भी कई जगह की गई हैं। कहां की गई हैं, इस सवाल का जबाब देने से पहले ही उन्होंने फोनन काट दिया और दाेबारा उनसे संपर्क नहीं हुआ।