पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • शाखा प्रबंधक पर बैंक सखी ने लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

शाखा प्रबंधक पर बैंक सखी ने लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय स्टेट बैंक की बैंक सखी रिंकी देवी ने शाखा प्रबंधक नरेंद्र श्रीवास्तव पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उन्होंने लेस्लीगंज थाना प्रभारी व जेएसएलपीएस के डीपीएम को आवेदन देकर शाखा प्रबंधक के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। बैंक सखी ने बताया कि शनिवार को बैठने के लिए नीयत स्थान पर कुर्सी टेबल की व्यवस्था नहीं होने पर शाखा प्रबंधक से पूछे जाने पर वे आग बबूला हो गए। कहा कि तुम अपने डिपार्टमेंट से बात करो। मेरी बात नहीं मानेगी तो यही नतीजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि शाखा प्रबंधक हमेशा मेरे साथ दुर्व्यव्हार करते थे और कहते थे कि मेरा कहा मानो। पूर्व में भी शाखा प्रबंधक द्वारा छेड़खानी का प्रयास किया गया था। इसके बाद शाखा प्रबंधक द्वारा मेरा विवो कंपनी का मोबाइल जब्त कर लिया गया तथा टेबल कुर्सी को हटवा दिया गया।

बैंक में मौजूद सेवानिवृत्त शिक्षक राम प्रताप गिरी ने भी शाखा प्रबंधक द्वारा रिंकी देवी के साथ अभद्र व्यवहार किए जाने की बात कही है। बैंक सखी के साथ अभद्र व्यवहार के जाने की सूचना के बाद ग्राहकों को स्थानीय लोगों के द्वारा बैंक परिसर में हंगामा किया गया। ग्राहक शाखा प्रबंधक के व्यवहार से नाराज थे।

शाखा प्रबंधक के व्यवहार से तंग हैं ग्राहक : भारतीय स्टेट बैंक लेस्लीगंज के ग्राहक शाखा प्रबंधक के व्यवहार से तंग आ चुके हैं। ग्राहकों के द्वारा कुछ पूछताछ किए जाने पर भी वे हमेशा आपे से बाहर हो जाते हैं और ग्राहकों को बैंक परिसर खाली करने की धमकी देते हैं। हरतुआ में पंचायत के पूर्व मुखिया अरविंद शुक्ला ने बताया कि 5 लाख रुपया मुद्रा लोन स्वीकृत कराने के एवज में शाखा प्रबंधक द्वारा 1 लाख की मांग की गई थी। पैसा नहीं देने पर अभी तक मेरा ऋण स्वीकृत नहीं किया गया, जिसकी शिकायत भारतीय स्टेट बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक से भी की गई। बावजूद शाखा प्रबंधक के विरुद्ध अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इससे ग्राहकों व स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। शाखा प्रबंधक द्वारा फोन कॉल रिसीव नहीं किए जाने की वजह से उनका पक्ष नहीं लिया जा सका है।

भारतीय स्टेट बैंक के बैंक सखी रिंकी देवी और अन्य।

खबरें और भी हैं...