पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सीएम के बैठक न करने पर अध्यापकों में रोष : अमृतपाल

सीएम के बैठक न करने पर अध्यापकों में रोष : अमृतपाल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
संगरूर में रोष व्यक्त करते सांझा अध्यापक मोर्चा के सदस्य।

संगरूर |सांझा अध्यापक मोर्चा की बैठक जिला प्रबंधकीय परिसर में हुई। जिसमें पंजाब सरकार की शिक्षा विरोधी नीतियों के खिलाफ रोष व्यक्त किया गया। बैठक के दौरान मोर्चे की ओर से 15 अप्रैल को पटियाला में की जाने वाली राज्य स्तरीय रैली संबंधी विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर डाॅ. अमृतपाल सिंह व गुरसिमरत सिंह ने कहा कि सरकार अध्यापकों की मांगों को अनदेखा कर रही है। अध्यापकों का वेतन कम किया जा रहा है। धक्केशाही से बदलियां की जा रही हैं। यूनियन के वफद की 2 को मुख्यमंत्री के साथ बैठक होनी थी परंतु जनता से दूरी बनाने वाले मुख्यमंत्री ने उनके साथ बैठक भी नहीं की। गुस्साए अध्यापक 15 अप्रैल को मुख्यमंत्री के हलके पटियाला में राज्य स्तरीय रोष रैली कर अपना रोष व्यक्त करेंगे। अध्यापक नेता देवी दियाल ने बताया कि जिले में अध्यापकों के आपसी तालमेल के लिए जिला कमेटी बनाई गई है, जिसमें अवतार सिंह ढढोगल, बलवीर चंद लोंगोवाल, हरजीत सिंह, चमकौर सिंह, गुरप्रीत भसौर, गगन शर्मा, कर्मजीत निदामपुर, कुलदीप कौशल, जसविंदर सिंह को शामिल किया गया है।

कच्चे अध्यापकों को पक्का नहीं किया तो 22 अप्रैल को मोती महल का घेराव करेंगे अध्यापक
शेरपुर |मांगों को लेकर बनाए गए संयुक्त अध्यापक मोर्चे की बैठक शेरपुर में हुई। इसमें ईटीटी अध्यापक यूनियन के जिला प्रधान गुरजीत सिंह व कुलविन्द्र जहांगीर ने कहा कि शिक्षा मंच के वफद की बैठक नौ अप्रैल को चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री के साथ हो रही है। यदि बैठक में कच्चे अध्यापकों को पक्का न किया गया व पूरे स्केल न दिए गए तो शिक्षा बचाओं मंच की ओर से 22 अप्रैल को मुख्यमंत्री की रिहायश मोती महल का घेराव किया जाएगा। जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती तब तक राज्य भर में पढ़ो पंजाब- पढाओं पंजाब का बहिष्कार रहेगा। (शर्मा)

खबरें और भी हैं...