पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत आईटीआई परिसर में रोपे 700 पौधे

हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत आईटीआई परिसर में रोपे 700 पौधे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मगरलोड. आईटीआई परिसर में अधिकारी ग्रामीणों को पौधरोपण की जानकारी देते हुए।

मगरलोड | हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत शासकीय आईटीआई करेली बड़ी में वृहद पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित कर वन महोत्सव मनाया गया। इसके तहत 2.832 हेक्टेयर के परिसर में 700 पौधे रोपे गए।

कार्यक्रम के मुख्यअतिथि एसके मंडेलकर और विशिष्ट अतिथि ओमनाथ साहू, भुनु निषाद, धारणा साहू, चंद्रशेखर साहू थे। अध्यक्षता प्राचार्य होमन नागरे ने की। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि आज के दौर में पौधरोपण अतिआवश्यक है। ग्लोबल वार्मिंग के दुष्प्रभाव को नियंत्रित करने का एकमात्र उपाय अधिक से अधिक पौधे लगाना है। प्राकृतिक विनाश और आपदा को काफी हद तक रोकने में पेड़ पौधे सहायक होते हैं। प्राचार्य ने कहा कि छत्तीसगढ़ के हर कोने को हराभरा बनाने का लक्ष्य है, चाहे कोई संस्था ही क्यों न हो। पेड़-पौधों का विनाश तीव्र गति से हो रहा है, जिससे पर्यावरण का संतुलन तेजी से बिगड़ रहा है। इसे बचाने पौधरोपण जरूरी है। सभी को एक पौधा लगाना अपनी जिम्मेदारी समझना चाहिए।

प्रशिक्षण अधिकारी धारणा साहू ने पेड़-पौधों के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि पेड़ों की कटाई कम और पौधों का रोपण अधिक होना चाहिए। पौधरोपण से मृदा अपरदन नहीं होता, जल की आपूर्ति भी बेहतर रहती है। संबोधन समापन पश्चात कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों ने पौधे लगाने के बाद उनकी सुरक्षा का संकल्प लिया। इस अवसर पर चोवाराम सोनवानी, निराम पाल, मदन पाल, मुन्ना बघेल सहित प्रशिक्षणार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...