पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • घर में घुसे पांच लोगों से आबरू बचाने के लिए महिला ने लगाई थी फांसी

घर में घुसे पांच लोगों से आबरू बचाने के लिए महिला ने लगाई थी फांसी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल लाइन पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

भास्कर संवाददाता | मुरैना

सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्थित नाऊपुरा गांव में 7 जून को कमला प|ी लाल सिंह श्रीवास ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। दो माह चली जांच में यह खुलासा हुआ कि पांच लोग घर में घुसकर महिला को बेइज्जत करना चाहते थे। जिसके चलते वह आत्महत्या को मजबूर हुई।

सिविल लाइन टीआई सुधीर सिंह कुशवाह ने बताया कि नाऊपुरा गांव में रहने वाली कमला (50) के पति लाल सिंह और परिजन ने 7 जून को गांव में रहने वाले जरदान पुत्र जगन्नाथ नाई (60) की हत्या कर दी थी। तब जरदान के परिजन देवेश, जंडेल, रामजीलाल, रामअवतार, मोनू लाल सिंह के घर में घुस गए आैर वहां तोड़फोड़ करते हुए कमला की बेइज्जती करने पर आमदा हो गए। बेइज्जती के भय से कमला ने कमरे में फांसी लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। दो माह चली जांच में खुलासा होने पर पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306, 454, 147, 149 के तहत मामला दर्ज किया है।

दहेज के लिए प्रताड़ित करने पर लगाई थी फांसी

मुरैना |
सरायछौला थाना क्षेत्र स्थित चंदपुरा गांव में 5 जून को बालो (28) नामक युवती ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। दो माह से चल रही जांच के बाद सिविल लाइन पुलिस ने पति, सास, ननद, देवर के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर लिया है। विवेचना कर रहे आरक्षक विष्णु सिंह ने बताया कि मायके से दहेज लाने के लिए कमला का पति बनवारी, सास बैजंती बाई सास, गंदर्भ देवर, सुनीता ननद व मेहताब आए दिन परेशान कर रहे थे।

खबरें और भी हैं...