पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • तेज सूंटे के साथ पिलानी में 89.2 व झुंझुनूं में 38 एमएम बारिश, ओले गिरे, शहर की सड़कें लबालब

तेज सूंटे के साथ पिलानी में 89.2 व झुंझुनूं में 38 एमएम बारिश, ओले गिरे, शहर की सड़कें लबालब

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

जिला मुख्यालय पर दोपहर पौने तीन बजे तेज बारिश शुरु हुई। डेढ़ घंटे की तेज बारिश के बाद शहर पानी से लबालब हो गया। बारिश के साथ चने के आकार के ओले भी गिरे। गुढ़ागौड़जी, सिंघाना, बड़ागांव, खेतड़ीनगर, सूरजगढ़ व सुलताना में भी ओले गिरे। पिलानी में सबसे अधिक 89.2 बारिश हुई। पिलानी में कई घरों में पानी भर गया। जिला मुख्यालय पर 38 एमएम बारिश हुई। रोड नंबर तीन पर सड़क किनारे बारिश से करीब पांच फीट गहरा, 10 फीट चौड़ा और 20 फीट लंबा गड्ढा हो गया। अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर सुरक्षा के इंतजाम करवाए। बारिश के दौरान शहर में दो-तीन जगह बिजली गिरी। वार्ड 40 के पुरुषोत्तम सैनी व वार्ड 33 के रमाकांत वर्मा के घर बिजली गिरने से बिजली उपकरण गिर गए। बारिश व ओले गिरने से गेहूं व चने की करीब 50% फसल खराब हो गई। पिलानी, गुढ़ा, खेतड़ी, मंडावा, उदयपुरवाटी, मुकुंदगढ़, नवलगढ़ में बारिश हुई।

पिलानी | करीब 3 बजे मूसलाधार बारिश हुई। सड़कों और गलियों में करीब चार-चार फीट तक पानी भर गया। पुलिस थाने के सामने, बड़ चौक, श्याम मंदिर रोड, गोशाला रोड, त्रिवेणी प्याऊ, लोहारु रोड, झुंडावाली कुई के पास सहित कई स्थानों पर पानी भर गया। झुंडावाली कुई के पास बद्री प्रसाद मेघवाल के मकान में पानी घुस गया। पड़ोसी एडवोकेट अनिल कालिया, जगदीश नायक, सत्यवीर, महेंद्र व प्रशांत ने पानी को सुरक्षित स्थान पर रखवाने में मदद की। -पेज 18 भी पढ़ें

पिलानी में कई घरों में भरा पानी
झुंझुनूं में रोड नंबर तीन पर मिट्‌टी कटने से 20 फीट लंबा गड्‌ढा हुआ
बारिश के दौरान रोड़ नगर तीन पर मिट्टी कटने से करीब पांच फीट गहरा और दस फीट चौड़ा और 20 फीट लंबा गड्ढा हो गया। गनीमत रही की उस समय उधर से वाहन या व्यक्ति नहीं गुजरने के कारण कोई हादसा नहीं हुआ। एएसपी नरेश मीणा, डीएसपी गोपाल शर्मा, तहसीलदार दमयंती कंवर व आयुक्त विनयपाल मौके पर पहुंचे। नगर परिषद ने गड्ढे को दुरुस्त करने का काम शुरु कर दिया। सुरक्षा इंतजाम के लिए बेरीकेड्स लगाए। पुलिसकर्मी भी लगाए गए। रात नौ बजे तक गड्ढे को भरने का काम चल रहा था। शहर की रोड़ नंबर एक, दो, तीन, मंडावा मोड़, चूरू रोड, गांधी चौक सहित कई इलाकों में पानी भर गया। सड़कों पर पानी भरने से वाहन चालक खासकर दुपहिया वाहन चालकों को खासी परेशानी हुई। शहर के रोड नंबर दो के हाल बेहाल हो गए। इस रोड पर पिछले एक साल से गौरव पथ का काम चल रहा है। इस रोड पर करीब एक किलोमीटर तक गड्ढे हंै। किनारों के साथ इस सड़क पर बीच में भी गड्ढे होने के कारण इस रोड से गुजरने वालों को काफी परेशानी हुई।

रोड नंबर तीन पर मिट्‌टी कटने से हुआ गड्‌ढा।

पिलानी. बारिश से घरों में भरा पानी।

गेहूं और चने की 50 प्रतिशत फसल खराब
किसानों के अनुसार तेज बारिश व आेले गिरने से गेहूं व चने की 50 प्रतिशत फसल खराब हो गई। जिले में 92 हजार हैक्टेयर में गेहूं, 40 हजार हैक्टेयर में चना और 28 हजार हैक्टेयर में जौ का रकबा है। गेहूं की 80 प्रतिशत फसल या तो काटने के बाद खेतों में पड़ी है या खेत में खड़ी है। ऐसे में तेज बारिश व ओले गिरने से सबसे अधिक नुकसान गेहूं की फसल को हुआ है। हालांकि हरे चारे, बाजरा व ज्वार की फसल के लिए बारिश फायदेमंद रहेगी। बारिश से फसलों के दाने खराब हो गए। फसलों के दाने काले होंगे। कृषि उप निदेशक रामकरण सैनी का कहना है कि बारिश से फसल को कितना नुकसान हुआ है इसका आकलन कर रहे है। विभाग के अधिकारियों को इस काम पर लगा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...