• Hindi News
  • National
  • फूलों की खेती ने बदली किसानों की सोच, कमाई भी बढ़ी

फूलों की खेती ने बदली किसानों की सोच, कमाई भी बढ़ी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एग्रो रिपोर्टर | रियांबड़ी (नागौर)

नागौर जिले का रियांबड़ी इलाका यूं तो लूणी नदी का बहाव क्षेत्र है, लेकिन इन दिनों किसानों की ओर से किए जा रहे नए प्रयोगों के चलते चर्चा में है। रियां उपखण्ड मुख्यालय क्षेत्र के कई किसान नए प्रयोग कर खेतों में खरीफ और रबी की सामान्य फसलों के साथ ही फूलों की खेती कर अच्छा लाभ कमा रहे हैं। उपखंड मुख्यालय स्थित जसनगर रोड पर डांगा कृषि फार्म में रहने वाले रामनिवास डांगा इन दिनों परिवार के साथ फूलों की खेती करते हैं। मुख्य रूप से वे गुलाब के फूलों का उत्पादन करते हैं। उनके बड़े बेटे दिनेश डांगा बताते हैं कि पहले उनका परिवार सामान्य खेती करता था, लेकिन इसमें ज्यादा बचत नहीं होती थी। लगातार परिवार बढ़ रहा था। इसी बीच खेती में उन्होंने कुछ नया करने का सोचा। गुलाब की खेती शुरू कर दी। पहलेे खेत के छोटे हिस्से में गुलाब का उत्पादन शुरू किया। अब करीब 3 बीघा क्षेत्र में उनके परिवार द्वारा गुलाब की खेती की जा रही है। हर महीने वे डेढ़ से दो लाख रुपए के गुलाब के फूलों का उत्पादन कर पुष्कर, अजमेर व जयपुर में गुलकंद व गुलाबजल फैक्ट्रियों में भेज रहे हैं।

गुलाब की खेती करता किसान दपंती।

खबरें और भी हैं...