पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • प्रशासन की अनदेखी से सड़कें बनीं दरिया, आए दिन गिरकर चोटिल हो रहे राहगीर

प्रशासन की अनदेखी से सड़कें बनीं दरिया, आए दिन गिरकर चोटिल हो रहे राहगीर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सार्वजनिक निर्माण विभाग एवं प्रशासन की अनदेखी के कारण क्षेत्र की एक दर्जन डामरीकृत सड़क लम्बे समय से क्षतिग्रस्त हैं। कई सड़कों पर बरसात का पानी भरा है, जिससे सड़क जलकुण्ड का रूप धारण कर चुकी हैं। वहीं जल भराव से वाहन चालक एवं राहगीरों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आए दिन इन रास्तों पर लोग गिरकर घायल होते रहते हैं फिर भी प्रशासन द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। विभाग प्रतिवर्ष सड़क की मरम्मत पर पानी की तरह पैसा बहाता है, जो कागजाें में पूरा होता है। ग्रामीण एवं राहगीर आए दिन शिकायत करते हैं, लेकिन विभाग के उच्चाधिकारी चुप्पी लगाए नजारा देखते रहते हैं। लोग क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और जिम्मेदारों को कोसते हुए अपने गंतव्य तक पहुंचते हैं।

ये सड़क हैं क्षतिग्रस्त
जयपुर-आगरा एनएच-21 स्थित हंतरा से वैर वाया धरसौनी, नदबई से हलैना वाया भोसिंगा, एचएच-21 स्थित डहरा मोड से नदबई वाया बुढवारी, नदबई से खेरलीगंज वाया कटारा, नदबई से कुम्हेर वाया अस्तावन, नदबई से पान्होरी वाया जनूथर, नदबई से नगर वाया रौनीजा आदि सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त हैं। देखा जाए तो क्षेत्र के चारों तरफ के सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त हालत में हैं। इनके लिए कई बार सार्वजनिक विभाग को शिकायत भी की गई है लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ।

क्या कहते हैं अधिकारी
हंतरा से वैर वाया धरसौनी को 440 लाख का बजट स्वीकृत हो गया जिसकी निविदाएं जारी हो गई निर्माण कार्य जल्द प्रारंभ हो जाएगा।

गोविन्दसिंह मीना, एईएन, सार्वजनिक निर्माण विभाग

खबरें और भी हैं...