पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • एबीईईओ ने 6 विद्यालयों का किया निरीक्षण, चार अध्यापक मिले नदारद और तीन में नहीं बटा दूध

एबीईईओ ने 6 विद्यालयों का किया निरीक्षण, चार अध्यापक मिले नदारद और तीन में नहीं बटा दूध

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अतिरिक्त ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी ने क्षेत्र के छह विद्यालयाें का एमडीएम निरीक्षण के तहत औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान चार अध्यापक नदारद मिले एवं तीन विद्यालयों में अन्नपूर्णा योजना के तहत बांटे जाने वाला दूध नहीं बटा। जिस पर अधिकारी ने कड़ी नाराजगी जताई एवं कारण बताओं नोटिस जारी कर दिए। अतिरिक्त ब्लाक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी रामगोपाल सिंह ने बताया कि सबसे पहले राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बझेरा का निरीक्षण किया गया। जिसमें अध्यापिका राजकुमारी शर्मा, अध्यापक जितेंद्र सिंह, एमडीएम प्रभारी नीरज एवं अध्यापक रुपनारायण चारों विद्यालय समय के करीब 25 मिनट बाद में पहुंचे। एबीईईओ ने विद्यालय में चार अध्यापकों के देरी से पहुंचने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। इसके अलावा विद्यालय में दुग्ध वितरण योजना के तहत बांटे जाने वाला दूध भी बच्चों को नहीं बांटा गया। जिस पर विद्यालय के चारो अध्यापकों को कारण बताओं नोटिस जारी किए गए। तदोपरान्त राजकीय विद्यालय बसैयाकला एवं राजकीय विद्यालय नगला मिर्चुआ में दुग्ध योजना के तहत बच्चों के लिए दूध नहीं बांटा गया। जिस पर नाराजगी जताते हुए दोनो विद्यालयों के लिए कारण बताओं नोटिस जारी किए गए। इसके बाद में गगवाना के दो राजकीय विद्यालय एवं चैनपुरा के राजकीय विद्यालयों का भी निरीक्षण किया जहां सभी व्यवस्थाएं सही पाई गई।

इसी तरह विकास अधिकारी आरती गुप्ता ने राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय बहरामदा का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में पोषाहार, विद्यालय व्यवस्था एवं विद्यालय की कक्षाओं को देखा गया। विकास अधिकारी ने स्वयं पोषाहार का खाना चखा। इसके बाद में रसोई एवं भंडार कक्ष का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश भी दिए। तदोपरान्त विकास अधिकारी ने विद्यालय में पौधा रोपण किया। पौधे का नाम विद्यालय में पढऩे वाली छात्रा पिंकी का नाम दिया क्यों कि छात्रा पिंकी ने बोर्ड की परीक्षा में विद्यालय में सर्वाधिक अंक प्राप्त किए थे और पिंकी को पौधे की देखभाल की जिम्मेदारी भी सौंपी। तदोपरान्त बच्चों को शिक्षा के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर प्रधानाचार्य मधुवाला दीक्षित, कृष्णकांत शर्मा, यादवचंद लवानिया, सौदान सिंह, विक्रमसिंह, कुसुम शर्मा, भरतसिंह सहित सभी मौजूद थे।

बैलारा. पोषाहार के दस्तावेजों का अवलोकन करते हुए उपखंड अधिकारी।

एसडीएम ने मिड-डे मील की गुणवत्ता जांची, साफ सफाई के दिए निर्देश

बाबूला। क्षेत्र के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय बैलारा कला तथा दादू विद्यालय में मंगलवार को उपखंड अधिकारी घनश्याम शर्मा ने पोषाहार कार्यक्रम का निरीक्षण कर मिड-डे मील की गुणवत्ता जांची तथा विद्यालय में पोषाहार को चखा। पोषाहार तथा साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उपखंड अधिकारी ने पोषाहार से संबंधित बालकों से सवाल जवाब किए और कक्षा एक से आठ तक के बच्चों का पढ़ाई का स्तर भी जांचा। उपखंड अधिकारी घनश्याम शर्मा ने प्रधानाचार्य रमेश चंद शर्मा को सलाह दी कि बच्चों को पढ़ाते समय डस्ट लेस चॉक का करें उपयोग करें, बच्चों को चॉक से पढ़ाते समय उसमें चूना होने से बच्चों के स्वास्थ्य पर काफी असर पड़ता है। इस दौरान उन्होंने पोषाहार के स्टॉक रजिस्टर आदि दस्तावेजों का भी अवलोकन किया। विद्यालय में निरीक्षण के दौरान अंकित उपस्थिति का मिलान विद्यालय में बनने वाले मिड डे मील उपस्थिति पंजिका से की। निरीक्षण में व्यवस्थाएं संतोषजनक पाई गईं। उपखंड अधिकारी ने कहा कि बच्चों को अच्छी गुणवत्ता का पौषाहार दे। इसी दौरान प्रधानाचार्य रमेश चंद शर्मा ने विद्यालय की बाउंड्री वाल कराने की मांग की। प्रधानाचार्य ने उपखंड अधिकारी को बताया कि विद्यालय के सहारे गांव की काफी गहरी पोखर बनी हुई है जिससे कभी भी हादसा होने की आशंका बनी रहती है। वहीं उपखंड अधिकारी ने बताया हाईकोर्ट में मामला विचाराधीन है इस पर फैसला कोर्ट ही करेगा। इस मौके पर पोषाहार प्रभारी दिनेश चंद शर्मा गिर्राज कोली, नरेंद्र शर्मा, एकता सोनी सहित विद्यालय के अध्यापक मौजूद थे।

पोषाहार की दाल में तीखी मिर्च पर भड़के एसडीएम

नगर। एसडीएम राजवीर सिंह यादव ने मंगलवार को ग्राम पंचायत सुंदरावली स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पोषाहार का निरीक्षण किया। इस दौरान पोषाहार बनी दाल में तीखी मिर्च मिलने पर नाराजगी व्यक्त की। इस मौके पर उन्होंने पोषाहार प्रभारी को बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर निर्धारित गुणवत्ता का ध्यान रखने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान एसडीएम द्वारा कक्षा दसवीं की गणित विषय में लघुत्तम, मतहत्तम समापवर्तक के प्रश्न हल कराने पर छात्र-छात्रा बगल झांकने लगे। ऐसे में संबंधित व्याख्याता को पढ़ाई के प्रति सजगता बरतने के लिए निर्देशित किया। इसी प्रकार बीईईओ मानसिंह यादव द्वारा कस्बे के अनार देवी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, उच्च प्राथमिक अंबेडकर विद्यालय व रेवती देवी उच्च माध्यमिक बालिका विद्यालय में पोषाहार निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान अनार देवी राउमावि में पोषाहार प्रभारी ने रसोई की समस्या रखीं।

नगर. सुंदरावली स्थित विद्यालय में पोषाहार चखते एसडीएम।

खबरें और भी हैं...