पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बोले जरूरत पड़ी तो अनाज मंडी में ताला लगाकर जताएंगे विरोध

बोले-जरूरत पड़ी तो अनाज मंडी में ताला लगाकर जताएंगे विरोध

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी एजेंसी से सरसों की खरीद करवाने से नाराज आढ़तियों का अल्टीमेटम

भास्कर न्यूज | नारनौल

सरसों की सरकारी खरीद में सरकार के वायदे के बावजूद अब तक आढ़तियों को शामिल ने करने से नाराज आढ़तियों ने शुक्रवार सुबह मार्केट कमेटी के नजदीकी मंदिर में बैठक की। इसमें मौजूद 50 से अधिक आढ़तियों ने निर्णय लिया अगर सरकार ने उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो सभी अपने आढ़त के लाइसेंस मार्केट कमेटी सचिव के माध्यम से सरकार को सरेंडर कर देंगे। जरूरत पड़ी तो अनाज मंडी में ताला लगाकर विरोध जताएंगे। इस मौके पर अपने अभियान को तेज करने के लिए एकजुटता की शपथ ली गई तथा खाद्यान्न व्यापार एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी भी बनाई गई।

अशोक यादव का कहना था कि इससे पहले मंडी में आने वाली सभी फसल सरकार आढ़तियों के माध्यम से खरीदती थी, उससे उनके परिवार के अलावा मजदूर, पल्लेदार व अन्य लोगों की आजीविका चलती थी। अब आढ़तियों को ही अपने परिवार का भरण पोषण करने में कठिनाई महसूस हो रही है। अगर सरकार ने उनकी पीड़ा पर ध्यान नहीं दिया तो वे अपने लाइसेंस रिन्यू करवाने की बजाय मार्केट कमेटी को सरेंडर कर देंगे। सतीश कारोता वाले का कहना था कि मार्केट कमेटी एक्ट में साफ तौर पर लिखा हुआ है कि सरसों या अन्य जिंस मंडी में ही ढेरी लगाकर नीलामी के माध्यम से आढ़तियों द्वारा खरीद होनी चाहिए, ना तो उसे व्यापारी सीधे तौर पर खरीद सकता है और ना ही कोई एजेंसी ऐसे ले सकती है। इसके बावजूद सरकार अपने द्वारा बनाए नियमों को तोड़ रही है। हम एकजुट होकर इसका विरोध करते हैं।

इस मौके पर सबने अपने हक की लड़ाई के लिए नए सिरे से संगठन बनाने का एलान किया। दी खाद्यान्न व्यापार एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी का अशोक कुमार यादव को नया प्रधान चुना गया। सचिव रमेश कुमार कांटीवाला बनाए गए। सतीश कारोता वाला को उपप्रधान बनाया गया। बाद में सभी आढ़ती मार्केट कमेटी सचिव के कार्यालय पहुंचे तथा उनके माध्यम से सरकार को ज्ञापन भोजा गया, जिसमें अनाज मंडी में आढ़तियों के माध्यम से ही सरसों की खरीद कराने की मांग की।

सरकार ने वादा पूरा नहीं किया तो लाइसेंस का करेंगे सरेंडर
सवा प्रतिशत आढ़त देने के वादे पर अब तक अमल नहीं
बैठक में उपस्थित एसोसिएशन के सचिव रमेश कांटीवाला का कहना था हमने सरसों की खरीद आढ़तियों के माध्यम से करने की मांग की थी। इसके लिए व्यापारियों ने मंडी गेट पर ताला लगाकर अपना विरोध भी जताया था। उसके बाद 19 मार्च को पानीपत में सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने आढ़तियों से सरसों की खरीद आढ़तियों के माध्यम से करवाने का वचन दिया था तथा इस काम में आढ़तियों को सवा प्रतिशत आढ़त देने का वादा भी किया था। उस घोषणा पर अब तक अमल नहीं किया गया है।

खबरें और भी हैं...