पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पंचायती राज व्यवस्था में समिति गठन का औचित्य नहीं: गौरीशंकर

पंचायती राज व्यवस्था में समिति गठन का औचित्य नहीं: गौरीशंकर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नावाडीह पंचायत भवन में शुक्रवार को मुखिया संघ की बैठक हुई। अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष गौरीशंकर महतो व संचालन देवानंद महतो ने किया। मुखिया राम पुकार प्रसाद ने कहा कि हम सरकार की ओर से गठित की जा रही इस समिति का विरोध करते हैं। वहीं मुखिया संघ के अध्यक्ष गौरीशंकर महतो ने बताया कि पंचायती राज व्यवस्था में समिति के गठन का कोई औचित्य नहीं, ऐसा कर हमारे अधिकारों का हनन किया जा रहा है। यदि अधिकार देना ही है तो वार्ड सदस्य या पंचायत समिति सदस्य को दें।

बैठक में ग्राम विकास समिति एवं आदिवासी ग्राम समिति का विरोध किया गया। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि किसी भी हाल में ग्राम विकास समिति का गठन नहीं होने दिया जाएगा। क्योंकि यह पंचायती राज अधिनियम के खिलाफ है। देवानंद महतो ने बताया कि पूर्व में कमेटी का गठन हो चुका है। इसलिए इस तरह की कमेटी गठित करने का कोई औचित्य नहीं है। महामहिम राज्यपाल को आवेदन देकर इसे निरस्त करने की मांग की गई है। इससे पूर्व प्रखंड विकास पदाधिकारी की ओर से गांव स्तर पर गठित हो रही ग्राम विकास समिति और आदिवासी विकास समिति की बैठक रखी गई थी। इसका मुखिया संघ ने पुरजोर विरोध किया है।

मौके पर डाॅ लालजी प्रसाद, रणविजय सिंह, योगेंद्र रंजन, ललिता देवी, रीना देवी, कुंती देवी, नगमा अंजूम, सुगमति देवी, टुनिया देवी, मानस तुरी, राम पुकार, कमरुल, सुरेश महतो, भेखलाल महतो सहित कई मुखिया मौजूद थे।

विरोध करते पंचायत प्रतिनिधिगण।

खबरें और भी हैं...