पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • प्रधानमंत्री से मिलने जयपुर गए लाभार्थियों को बसों में दिया बासी खाना, रास्ते में फेंकना पड़ा

प्रधानमंत्री से मिलने जयपुर गए लाभार्थियों को बसों में दिया बासी खाना, रास्ते में फेंकना पड़ा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जयपुर में हुई रैली में प्रशासन की तरफ से भेजे गए लोगों को बासी खाना दिए जाने की बात सामने आई। यह खाना लोगों ने रास्ते में फेंक दिया। बसों में सवार कुछ महिलाओं ने एक वीडियो तैयार कर वायरल किया, जिसमें इस यात्रा के दौरान हुई परेशानियों का जिक्र किया। इसमें किसी का चेहरा नहीं है तथा यह भी पता नहीं चल रहा कि वह कौन सी बस का है। पीएम की सभा में जिले से 129 बसों से 6012 लाभार्थियों को भेजा गया। झुंझुनूं में सुबह छह बजे पीरू सिंह सर्किल से कलेक्टर, एडीएम ने इन बसों को झंडी दिखा कर रवाना किया। वायरल वीडियो में महिलाओं ने बताया कि उन्हें खटारा बस से भेजा गया। नवलगढ़ में दिया गया खाना भी बासी था जिसे उन्हें कचरे में फेंकना पड़ा। महिलाओं का आरोप था कि अफसरों व मौजूद कर्मचारियों से उन्होंने ठीक खाना देने की मांग की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

बागौरा (उदयपुरवाटी) | क्षेत्र से 1113 के लक्ष्य के मुकाबले 1184 लाभार्थियों को रवाना किया गया। प्रशासनिक अधिकारियों ने सामान वितरण के काउंटर लगाकर व्यवस्थाएं की। एसडीओ शिवपाल जाट, तहसीलदार औंकारमल मूंड, सीआई रामेश्वर लाल बगड़िया भैरोंघाट से आगे शाकंभरी होटल के निकट चैक पोस्ट पर पहुंचे थे। हर बस में लाभार्थियों की गिनती की गई। उनको आई कार्ड, गले में डालने के लिए योजना से संबंधित पट्टा, सरकार की उपलब्धियों का साहित्य, बैग, कैप, खाने का पैकेट, वापसी का नाश्ता, पानी की केन आदि वितरित की गई। एक गाड़ी खराब थी जिसे बदला गया।

नवलगढ़ | कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश चौधरी ने कहा है कि मोदी का जयपुर दौरा फेल साबित हुआ हैं। सरकार ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करते हुए जिस तरीके से लक्ष्य अधिकारियों को दिया, वो भी अधूरा रह गया।

बाघोली | क्षेत्र के जोधपुरा, सराय, मणकसास में शनिवार को मोदी की सभा में लाभार्थियों को ले जाने के लिए लगाई बसों में बैठाने के लिए ग्राम विकास अधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह व कनिष्ठ लिपिक रचना कुमारी ने मशक्कत की। मणकसास में ग्राम विकास अधिकारी मातादीन व पटवारी व कनिष्ठ लिपिक मनोहर लाल गुर्जर, सराय में ग्राम विकास अधिकारी शीशराम गुर्जर, मुकेश, एएनएम समजकोर आदि लाभार्थियों को घर घर जाकर लाए।

पिलानी | कार्यक्रम में भाग लेने जाने वाले करीब तीस लाभार्थी रात भर भटकते रहे लेकिन उनका सूची में नाम नहीं होने के कारण उन्हें निराश होकर लौटना पड़ा। लाभार्थी शुक्रवार रात को ही करीब दो बजे सीरी गेट के पास बसों में सवार होने पहुंचे थे। बसों में विभागीय अधिकारियों ने सूची के अनुसार लोगों को बिठाया लेकिन भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, राजश्री योजना के लाभार्थी जिनका सूची में नाम नहीं था, उन्हें कहा कि वे ओजटू बाईपास पर पहुंचे, वहां उनके लिए दूसरे वाहनों की व्यवस्था की जाएगी। ऐसे लोग रात को निजी वाहनों की मदद से ओजटू बाईपास पहुंचे लेकिन वहां मौजूद अधिकारियों ने भी सूची में नाम नहीं होने की बात कहते हुए उन्हें वापिस घर भेज दिया।

नवलगढ़. सीकर रोड पर फेंके गए भोजन के पैकेट।

खबरें और भी हैं...