पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 20 महीने में 180 किमी ही बिछाई सीवरेज लाइन, खुदाई के बाद मिट्‌टी से भरे गड्‌ढे, धंस रही सड़कें

20 महीने में 180 किमी ही बिछाई सीवरेज लाइन, खुदाई के बाद मिट्‌टी से भरे गड्‌ढे, धंस रही सड़कें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीवरेज लाइन डालने के लिए गुजरात की कंपनी ने शहर में 180 किमी सीमेंट-कांक्रीट, डामरीकरण व कच्ची सड़कों की खुदाई कर दी। पाइप डालने के बाद निर्माण कंपनी ने रीस्टोरेशन में लापरवाही बरती। नपा के जिम्मेदारों ने भी मौके पर जाकर नहीं देखा और मनमानी करते हुए मिट्टी व गिट्टी डाल दी। अब जगह-जगह भारी वाहनों की आवाजाही से सड़कें धंस रही है।

सीवरेज के लिए 68 करोड़ रुपए का ठेका दिया गया। कंपनी नवंबर 2016 में काम शुरू किया। पूरे शहर में 250.67 किमी लाइन डालना थी। काम की गति धीमी होने के कारण 20 महीने में महज 180 किमी लाइन डाली गई। पाइप डालने के बाद सड़कों पर सीमेंट-कांक्रीट, डामरीकरण करना था। कंपनी के ठेकेदार ने मनमानी करते हुए 126 किमी से अधिक का रीस्टोरेशन मिट्टी-गिट्टी डालकर पूरा कर दिया। जबकि टेंडर शर्तों के मुताबिक लाइन डालने के लिए खोदी सड़क पर मिट्टी को पानी डालकर काम्पैक्टर से दबाकर सीसी वर्क या डामरीकरण करना था। एजेंसी ने एक-दो जगह सीमेंट-कांक्रीट या डामरीकरण कर दिया। बाकी जगह मिट्टी डाल दी। पिछले दिनों हुई बारिश के दौरान यह सड़कें जर्जर हो गई। भारी वाहनों के आवागमन से कई जगह पर सड़कें धंसने लगी है। आनन फानन में कंपनी ने फिर मिट्टी-गिट्टी डाली और रोलर से दबा दिया। लापरवाही पर नपा के जिम्मेदार सिर्फ कंपनी पर जुर्माना लगाने की बात ही कह रहे हैं। कार्रवाई अभी तक नहीं हुई।

इन क्षेत्रों में ज्यादा खराब हुई सड़कें

सिटी, सांवरिया मंदिर के पीछे, हुड़को कॉलोनी, शिक्षक कॉलोनी, विकास नगर, इंदिरा नगर, राजीव नगर, शास्त्रीनगर, मूलचंद मार्ग, नया बाजार, स्कीम नंबर 36 ए, स्कीम नंबर 34 में जगह-जगह सड़कें धंस रही है। लाइन के लिए मैन होल सड़क से ऊपर बना दिए। जो हादसे का सबब बन रहे हैं। स्कीम नंबर 36 के शिवनारायण शर्मा और इंदिरा धनगर ने बताया सड़क पर 2 फीट तक के गड्ढे होने व वाहनों के इनमें फंसने की नपा में शिकायत की तो निर्माण एजेंसी ने गिट्टी मिट्टी डाल दी। तेज बारिश में यह बह गई। बड़े वाहनों के पहिये कई बार धंस गए। ठेकेदार कर्मियों ने मंगलवार को फिर से गड्ढों में मिट्टी डालकर इन्हें बंद करना शुरू कर दिया। नपा के जिम्मेदार एजेंसी को डामरीकरण करने की हिदायत नहीं दे रहे हैं।

चौधरी मोहल्ले में सीवरेज लाइन डालने के लिए खोदी सड़क को इस तरह छोड़ दिया।

180 किमी सड़क का ठेकेदार को 15 जून तक पूरा करना था रीस्टोरेशन

सीवरेज के लिए खुदाई के बाद नपा ने एजेंसी को सड़कों का रीस्टोरेशन 15 जून तक पूरा करने को कहा था। अभी तक 126 किमी का रीस्टोरेशन भी पूरा नहीं हुआ है। ठेकेदार नरेश कुमार पटेल का कहना है 180 किमी लाइन डालकर रीस्टोरेशन का काम चल रहा है। दिसंबर तक सीवरेज का काम पूरा कर सड़कों को सुधार देंगे।

रीस्टोरेशन में लापरवाही पर 46 लाख की पेनल्टी लगाई, फिर करेंगे कार्रवाई

रीस्टोरेशन और निर्माण में लापरवाही पर नपा द्वारा कंपनी पर 46 लाख रुपए की पेनल्टी लगा चुकी है। सीएमओ संजेश गुप्ता का कहना है पहले खोदी सड़कों का रीस्टोरेशन 15 जून तक करना था। एजेंसी को हाथों-हाथ रीस्टोरेशन के आदेश दिए गए हैं। इसमें लापरवाही करने पर पेनल्टी लगाई जाएगी।

ये है सीवरेज प्रोजेक्ट

250.67 किमी लाइन डालना

68 करोड़ रुपए लागत

23 नवंबर 2018 तक समय सीमा

अब तक हुआ काम

180 किमी मैन लाइन

42 किमी सब ट्रंक लाइन

6485 मैन होल बने

5365 हाउस कनेक्शन

2 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (क्षमता 16.50 एमएलडी)

कहां बनेंगे सिटी रोड 39 के पास (9 एमएलडी) और रावण रूंडी पर (7.50 एमएलडी)

खबरें और भी हैं...