पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सुनंदा पुष्कर मौत केस में थरूर को नियमित जमानत

सुनंदा पुष्कर मौत केस में थरूर को नियमित जमानत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुनंदा पुष्कर मौत केस में शनिवार को कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुए। एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल की बेंच के समक्ष थरूर के वकील ने नियमित जमानत के लिए अर्जी दाखिल करने की अनुमति मांगी। इस पर कोर्ट ने कहा कि थरूर को औपचारिक रूप से जमानत अर्जी दायर करने की जरूरत नहीं है वह पहले से अग्रिम जमानत पर हैं। थरूर ने एक लाख का मुचलका जमा करवाया। इसके बाद उन्हें नियमित जमानत दे दी गई।

सुनवाई के दौरान थरूर के वकील विकास पाहवा और दिल्ली पुलिस की तरफ से पेश हुए अतुल श्रीवास्तव ने इस केस में दायर बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका को खारिज करने की अपील की। स्वामी ने थरूर के वकील की मदद करने और पुलिस द्वारा मामले में तैयार की गई विजिलेंस रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने की मांग की है। पाहवा ने कहा कि स्वामी का इस केस में न तो पीड़ित पक्ष से हैं और न ही आरोपी। वह किसी जांच एजेंसी से भी नहीं है। ऐसे में उनकी याचिका रद्द की जाए। सुनवाई के दौरान शशि थरूर के हावभाव नॉर्मल दिखे। वह सुबह समय से कोर्ट पहुंच गए थे। पाहवा की अपील पर कोर्ट ने पुलिस को उन्हें चार्जशीट की कॉपी देने के निर्देश दिए। अगली सुनवाई 26 जुलाई को होगी।

क्या है मामला
17 जनवरी 2014 की रात साउथ दिल्ली के लीला पैलेस होटल में संदिग्ध हालात में सुनंदा पुष्कर की मौत हो गई थी। सुनंदा होटल के एक कमरे में बेड पर मृत पड़ी मिली थी।

14 मई को दिल्ली पुलिस ने इस मामले में चार्जशीट दायर की है, जिसमें थरूर को आईपीसी की धारा 306 यानी आत्महत्या के लिए उकसाना और 498ए वैवाहिक जीवन मे प्रताड़ना (क्रूर बर्ताव करना) के तहत संदिग्ध आरोपी बनाया है।

5 जुलाई को स्पेशल जज अरविंद कुमार ने थरूर को एक लाख के निजी मुचलके व बिना अनुमति देश से बाहर न जाने की शर्त पर अग्रिम जमानत दी थी।

खबरें और भी हैं...