पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सहकारी बैंक के अाराेपी बैंक मैनेजर ने जमा करवाया 30 लाख का चेक, कलेक्टर ने मांगा संपत्ति का ब्यौरा

सहकारी बैंक के अाराेपी बैंक मैनेजर ने जमा करवाया 30 लाख का चेक, कलेक्टर ने मांगा संपत्ति का ब्यौरा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रींगस| सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक के 8.53 करोड़ रुपए के घोटाले में कलेक्टर ने गुरुवार को नगर पालिका प्रशासन को आरोपी शाखा प्रबंधक यशवंत पारीक, उनके पिता पूर्व नगर पालिकाध्यक्ष मक्खनलाल पारीक व उनकी प|ी प्रमिला देवी की संपत्ति की ब्यौरा मांगा है। वहीं शाखा प्रबंधक यशवंत पारीक ने गुरुवार को 30 लाख रुपए का चेक भी बैंक में जमा करवाया। सहकारी बैंक के एमडी मनोहरलाल शर्मा ने मुख्यालय अतिरिक्त रजिस्ट्रार जोन जयपुर को घोटाले के दस्तावेज पेश किए। सोसायटी एक्ट 55 के तहत आरोपी मानते हुए महाप्रबंधक आईसीबीपी शीशराम को जांच अधिकारी नियुक्त कर 15 दिन में जांच सौंपने को कहा है। बैंक अधिकारियों ने गुरुवार को अन्य उपभोक्ताओं की एफडी की जांच की गई। गौरतलब है कि सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक रींगस में शाखा प्रबंधक यशवंत कुमार, तत्कालीन मैनेजर प्रकाश जैन, विकास मीणा, सोहनलाल, रविप्रकाश, प्रमिला देवी व विनोद कुमार ने मिलीभगत से उपभोक्ताओं की एफडी पर लोन उठाकर आठ करोड़ 53 लाख रुपए का घोटाला सामने आया।

खबरें और भी हैं...