पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हत्या के प्रयास के मामले में चार को 10 10 साल की सजा

हत्या के प्रयास के मामले में चार को 10-10 साल की सजा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भूकरका में 2012 का मामला

भास्कर संवाददाता|नोहर

हत्या के प्रयास के एक मामले में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश संख्या दो पवन कुमार वर्मा ने चार जनों को दस-दस साल की सजा सुनाई है। साथ ही दस हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया है। मामला तहसील के गांव भूकरका का वर्ष 2012 का है।

अभियोजन के अनुसार 9 अप्रैल 2012 को जुगलसिंह पुत्र भंवरसिंह, जितेन्द्र पुत्र भैरुसिंह राजपूत रात्रि के समय रावतसर से भूकरका आ रहे थे। तभी भूकरका बस स्टैंड के पास दलीप पुत्र देवीलाल, कृष्ण पुत्र देवीलाल, उम्मेद पुत्र चेतराम, देवीलाल पुत्र मनफूलराम जाट निवासी भूकरका ने हथियारों से लैस होकर जुगलसिंह व जितेन्द्र को घेर लिया। गंडासी व लाठियों से मारपीट शुरू कर दी। जान से मारने की नीयत से जुगलसिंह पर गाड़ी चढ़ा दी। जिससे जुगलसिंह की की पैरो में गंभीर चोटें आईं। बीच-बचाव करने आए प्रहलाद सिंह व श्यामसिंह के सिर व हाथों पर भी गंभीर चोटें आई। बाद में सभी आरोपी मौके पर से फरार हो गए।

इस संबंध में नोहर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में चालान पेश किया। जुगल सिंह का इलाज के दौरान जयपुर में पैर काटना पड़ा। जिससे वह अपंग हो गया। अभियोजन पक्ष की ओर से गवाह व दस्तावेज पेश किए जाने पर न्यायालय ने दलीप, कृष्ण, उम्मेद, देवीलाल को दोषी मानते हुए दस-दस साल की सजा व दस हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया। सभी आरोपी जमानत पर थे। जिन्हें न्यायालय ने जेल भेज दिया। राज्य सरकार की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक दिलावर सहु ने की।

खबरें और भी हैं...