पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • रिश्वत लेने के दोषी थानेदार को सात साल का कारावास

रिश्वत लेने के दोषी थानेदार को सात साल का कारावास

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर में एसीबी कोर्ट के न्यायाधीश अजय कुमार शर्मा ने चोरी के मुकदमे में झूठा फंसाने का डर दिखाकर पांच हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में दोषी साबित हुए थानेदार को सात साल की कठोर सजा से दंडित किया है। 25 हजार रुपए का आर्थिक दंड भी लगाया है।

सहायक निदेशक अभियोजन (भ्रष्टाचार निरोधक) एनके सांखला ने बताया कि अगस्त 2014 में जोधपुर के खांडा फलसा थाने में ओमप्रकाश माचवाल पुलिस उप निरीक्षक के पद पर कार्यरत था। उसने पाली जिले के सादड़ी निवासी मोहम्मद निसार को चोरी के मुकदमे में झूठा फंसाने की धमकी दी। ऐसे मुकदमे में नहीं फंसाने के एवज में 25 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। परिवादी ने कुछ कम करने का आग्रह किया और 26 अगस्त 2014 को पांच हजार रुपए उसे देने गया। पांच हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी जोधपुर ग्रामीण ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

कोर्ट में बहस के दौरान सहायक निदेशक अभियोजन सांखला ने कोर्ट को बताया, कि वर्तमान में हर जगह भ्रष्टाचार का बोलबाला है। इस कारण भ्रष्ट लोगों के प्रति नरमी का रुख नहीं अपनाते हुए कठोर से कठोर दंड देना चाहिए। सभी पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने धारा 7 पीसी एक्ट में पांच साल का कठोर कारावास व 20 हजार के अर्थदंड से दंडित किया।

बाड़मेर जिले में एसबीआई में गबन का मामला

जॉइनिंग के पहले दिन बैंक मैनेजर ने रिश्तेदारों के खातों में ट्रांसफर किए Rs.26.49 लाख

बाड़मेर| एसबीआई की शाखा रामसर में Rs.26 लाख गबन का मामला प्रकाश में आया है। बैंक मैनेजर धनंजय कुमार ने ही बैंक से 26.49 लाख रुपए अपनी मां, ड्राइवर व रिश्तेदार के बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया। प्रबंधक ने 14 जुलाई को पदभार ग्रहण किया और उसी दिन ही बैंक के आंतरिक खाते से राशि हड़प ली। एसबीआई की स्पेशल टीम की जांच में घोटाले का खुलासा हुआ। बैंक प्रशासन ने प्रबंधक के खिलाफ पुलिस थाना रामसर में गबन का मामला दर्ज करवाया है। इसके बाद प्रबंधक समेत पूरे बैंक स्टाफ को हटा दिया। प्रबंधक बीते दो साल से एसबीआई शाखा फतेहगढ़ में कार्यरत रहा। 14 जुलाई को ही उसका तबादला जैसलमेर जिले के फतेहगढ़ से रामसर शाखा में हुआ था। एसबीआई ने 14 जुलाई 2018 को शाखा रामसर में प्रबंधक धनंजय कुमार को नियुक्त किया। प्रबंधक ने पदभार संभालने की दिन ही बैंक के आंतरिक खाते से ‌Rs.26.49 लाख अपनी मां, ड्राइवर और रिश्तेदारों के खाते में ट्रांसफर कर दिए।

प्रबंधक के खिलाफ केस दर्ज

मामले में पुलिस थाना रामसर में प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी है। -आर.सी. मीणा, एजीएम, एसबीआई

एफआईआर दर्ज करवाई है। जांच कर कार्रवाई की जा रही है। -विक्रम सांदू, थानाधिकारी

खबरें और भी हैं...