पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सादड़ी कस्बे में प्रस्तावों पर कार्य नहीं होने से बोर्ड बैठक का पार्षदों ने किया बहिष्कार

सादड़ी कस्बे में प्रस्तावों पर कार्य नहीं होने से बोर्ड बैठक का पार्षदों ने किया बहिष्कार

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | पालीसादड़ी

सादड़ी नगर पालिका बोर्ड की साधारण सभा मंगलवार को आयोजित की गई। यह बैठक 20 मिनट में पूरी हो गई। बैठक में भाजपा-कांग्रेस पार्षदों की ओर से नगरहित में बताए गए सुझाव प्रस्तावों पर कार्य नहीं होने से नाराज पार्षदों ने बैठक शुरू होते ही विरोध जताते हुए बहिष्कार कर दिया और उठ कर चले गए। बैठक में किसी भी एजेंडे पर चर्चा नहीं हो पाई। पालिकाध्यक्ष, उपाध्यक्ष के अलावा मात्र दो पार्षद बैठक में मौजूद रहे। सुबह 11 बजे पालिकाध्यक्ष दिनेश मीणा, उपाध्यक्ष दूदाराम बावरी, अधिशासी अधिकारी महिपालसिंह सोलंकी के सान्निध्य में बैठक शुरू हुई। बैठक में पार्षद ओमप्रकाश बोहरा ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत जगह-जगह लगाए गए शौचालय पर पानी की सुविधा नहीं होने व पालिका द्वारा क्रयशुदा एलईडी रोड लाइट्स नकारा पड़ी होने पर उनकी उपयोगिता पर सुझाए प्रस्ताव पर प्रगति मांगी। वहीं पार्षद मांगीलाल गहलोत ने आवासीय व व्यवसायिक भवन निर्माण की पत्रावली सूचना, रणकपुर सड़क मार्ग से अतिक्रमण हटाने, आखरिया से बस स्टैंड तक ट्रैफिक व्यवस्था व्यवस्थित कराने सहित बोर्ड बैठक में बताए सुझाव पर कार्रवाई व प्रगति की जानकारी चाही तो पालिकाध्यक्ष, ईओ निरुत्तर नजर आए। महज 20 मिनट में तीन पार्षद अमृत मीणा, भावना, बसंती को छोड़ बाकी सब पार्षद उठकर बाहर चले गए। बैठक में पार्षद ओमप्रकाश बोहरा, संजय बोहरा, मांगीलाल गहलोत, शंकर देवड़ा, मनोज सुथार, रमेश बावरी, प्रकाश जाट, मानाराम जाट, पुखराज चौधरी, सोहनलाल प्रजापत, ऊषा माली, गीता रामपाल मेवाड़ा, लक्ष्मी शर्मा, आशा मीणा, सुरेश भाटी, हेमाकंवर सहित कुल 19 पार्षद मौजूद थे।

बिना चर्चा किए ही बहिष्कार

पार्षद बैठक में चर्चा करे बिना ही अपनी शिकायत व्यक्त करते हुए बैठक का बहिष्कार कर उठ बाहर निकल गए। जिस पर बैठक स्थगित की गई। -दिनेश मीणा, पालिकाध्यक्ष, नगरपालिका, सादड़ी।

नगर विकास को लेकर गंभीर नहीं

पालिकाध्यक्ष नगर विकास को लेकर गंभीर नहीं हैं। बैठक में भाजपा-कांग्रेस के सभी पार्षदों ने कई बार आमजन के हितार्थ सुझाव दिए, जिन्हें हर बार नजरअंदाज कर दिया। महज स्वार्थ सिद्धी के नवीन प्रस्ताव हर बार बैठक में लाकर गत बोर्ड बैठक के सुझाव पर प्रगति नहीं बतलाई जाती है। इसके विरोध में बैठक का बहिष्कार किया। -मांगीलाल गहलोत, पार्षद नगर पालिका, सादड़ी।

खबरें और भी हैं...