पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बुजुर्ग बोला तहसीलदार बिना पैसे नामांतरण तक नहीं खोलते सीएम ने पूछा कब से लगे हुए हो, 3 दिन में रिपोर्ट चाहिए

बुजुर्ग बोला-तहसीलदार बिना पैसे नामांतरण तक नहीं खोलते सीएम ने पूछा-कब से लगे हुए हो, 3 दिन में रिपोर्ट चाहिए

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शुक्रवार को चार दिवसीय दौरे पर पाटन पहुंची। जनसंवाद में अफसरों की पोल खुली। चला के बनवारी स्वामी ने नामांतरण नहीं खोलने की पीड़ा जताते हुए तहसीलदार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, तहसीलदार साहब बिना पैसे कोई काम नहीं करते हैं। सीएम ने तहसीलदार से पूछा कि आप यहां कब से हैं। इनका काम क्यों नहीं हो रहा है। सीएम ने तीन दिन में इसकी रिपोर्ट मांगी।

मुख्यमंत्री ने कोटपूतली से नीमकाथाना तक 120 करोड़ रुपए की लागत से फोरलेन सड़क की घोषणा की। एक मामले में जिला शिक्षा अधिकारी को सीएम ने बुलाया और कहा कि आपकी कार्यशैली सही नहीं है। सुधरने की नसीहत भी दी। जबकि कृषि मंडी की महिला अधिकारी को भी फटकार लगाते हुए कहा कि बाल बनाने से काम नहीं चलेगा। काम नहीं करते। इसलिए तो यह हालात बन गए हैं। पीडब्ल्यूडी पर भी ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पानी की टंकी बनने से पहले ही टपकने लगती है। एसपी को नाबालिग लड़की के अपहरण की रिपोर्ट दो दिन में देने के निर्देश दिए। इसी तरह हरजनपुरा-बासड़ी के ताराचंद ने शिकायत दी कि पिता की मौत 2013 में हुई। नृसिंहपुरी पटवारी आलोक शर्मा नामांतरण नहीं खोल रहे। सीएम ने कलेक्टर से कहा कि जांच करो। यदि पटवारी दोषी पाए तो तुरंत संस्पेंड कर दो। हनुमान सेवा समिति के मुकेश नाड़ ने कपिल अस्पताल में ब्लड नहीं मिलने का मामला उठाया। सीएम ने कलेक्टर से कहा कि आप जिलास्तरीय मीटिंग में ठीक तरह से मॉनिटरिंग नहीं कर पा रहे हैं। इन मामलों का मासिक बैठक में निस्तारण क्यों नहीं हो पा रहा है? विवेकानंद पुनर्वास संस्थान के एक साल से लंबित चल रहे रजिस्ट्रेशन के मसले पर सीएम ने कलेक्टर से कहा, यह गंभीर है। एक साल तक दिव्यांगों की संस्था का पंजीयन नहीं हुआ।

कृषि मंडी की महिला अधिकारी से कहा-बाल बनाने से कुछ नहीं होगा
विरोध से बचने की कोशिश : आई कार्ड नहीं था, उसे नहीं दिया प्रवेश : जनसंवाद कार्यक्रम में नेताओं के विश्वास पात्र लोगों को ही अपनी बात रखने का मौका मिला। इसकी पूर्व में सूची तैयार की गई थी। आईकार्ड के आधार पर संवाद केंद्र में प्रवेश दिया गया। कुछ किसान संवाद के लिए पहुंचे, लेकिन उन्हें मुख्य गेट से ही वापस भेज दिया गया। रघुवीरसिंह भूदोली दो दर्जन ग्रामीणों के साथ संवाद केंद्र पहुंचे। इन्हें प्रवेश नहीं दिया गया।

एकजुटता का मैसेज : तीनों बड़े नेताओं को गाड़ी में बैठाया : मुख्यमंत्री ने जिले के बड़े नेताओं को बराबर तव्वजो देते हुए एकजुटता का संदेश दिया। नवोदय स्कूल में बने हेलिपेड पर उतरने के बाद जिस गाड़ी में मुख्यमंत्री सवार हुई। उसी गाड़ी में सांसद सुमेधानंद सरस्वती, जिलाध्यक्ष मनोज सिंघानिया, सैनिक कल्याण बोर्ड अध्यक्ष प्रेमसिंह बाजौर को भी बैठाया। मुख्यमंत्री में गुटों में बंटे भाजपा नेताओं को एकजुटता का संदेश देने का प्रयास किया।

पर्दे के पीछे : राजनीतिक खींचतान का मुद्दा उठा तो बाजौर ने बिठाया

जनसंवाद में देवेंद्र डांगी ने मुद्दा उठाया कि राजनीतिक खींचतान के कारण नीमकाथाना क्षेत्र को 39 करोड़ रुपए की पेयजल योजना का पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने बाजौर से पूछा ऐसा क्यों.....। अगले ही पल सीएम व बाजौर ने डांगी को वापस बैठा दिया।

पानी निकासी की पीड़ा सुनाई : जनसंवाद में नरेश कुमार ने कहा, कस्बे में गंदे पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। अगर अलग योजना बने तो इसका समाधान हो सकता है। इस पर सीएम ने कहा, पहले 39 करोड़ रुपए पेयजल योजना के मजे तो लो।

सीएम ने खुद ली हाजरी : जनसंवाद के विभिन्न सत्र में मुख्यमंत्री ने पूर्व में तैयार सूची के आधार पर एक-एक पदाधिकारी व योजनाओं के लाभार्थियों का नाम बोलकर हाजिरी ली। करीब 30 फीसदी गैर हाजिर भी रहे।

जवाब देकर बैठे तो सीएम ने कहा-मिस्टर ईओ

इंदिरा कॉलोनी आवासीय योजना में आवंटित प्लॉट का लोगों को 40 साल बाद भी पट्‌टे नहीं मिलने का सवाल उठा। ईओ विशाल वजह बताकर सीट पर बैठे तो सीएम ने कहा-मिस्टर ईओ...।

पूछा-आखिर यह तो बता दो सरकार ने क्या भला किया

लगातार शिकायतें आने पर मुख्यमंत्री ने एडवोकेट देशबंधु शर्मा व रामसिंह गुर्जर से कह डाला कि आखिर अब यह तो बता दो सरकार ने क्या भला किया...।

आज शहीद की मूर्ति का लोकार्पण और खंडेला में जनसंवाद

शनिवार को नीमकाथाना में सुबह 10 बजे शहीद सुनील यादव की मूर्ति का अनावरण और कई विकास योजनाआओं का शिलान्यास होगा। इसके बाद संतोषपुरा में खंडेला क्षेत्र का जनसंवाद होगा।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया, गोद भराई की
मुख्यमंत्री निर्धारित समय से करीब डेढ़ घंटा देरी से 11.45 बजे पाटन नवोदय स्कूल पहुंचीं। यहां सबसे पहले बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश देने के लिए महिलाओं की गोद भराई के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। महिलाओं का सम्मान किया गया। इसके बाद 12.30 बजे जनसुनवाई का कार्यक्रम शुरू हुआ।

खबरें और भी हैं...