पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 15 दिन के बाद भी नैरोगेज ट्रैक से साफ नहीं हुआ मलबा

15 दिन के बाद भी नैरोगेज ट्रैक से साफ नहीं हुआ मलबा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हिमाचल प्रदेश में हो रही तेज बारिश के कारण ज्वालामुखी व पालमपुर के समीप नैरोगेज ट्रैक पर करीब 15 दिन पहले लैंड स्लाइडिंग हुआ था। लेकिन अभी तक ट्रैक से मलवा न हटाए न जाने के कारण पठानकोट से गुलेर तक ही दो ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इस कारण हिमाचल के कांगड़ा, जोगिन्द्रनगर, बैजनाथ जाने वाले यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। लगभग दो सप्ताह पूर्व ज्वालामुखी व पालमपुर के समीप नैरोगेज ट्रैक पर लैंड स्लाइडिंग होने से फिरोजपुर मंडल की ओर से कांगड़ा घाटी नैरोगेज ट्रैक की अप-डाउन की दस गाड़ियां रद्द कर दी। जबकि पठानकोट से हिमाचल के लिए सुबह सात से दस बजे के बाद कोई ट्रेन न चलने के कारण लोगों को बस सफर कर अधिक किराया खर्च जाना पड़ रहा है।

लगभग डेढ़ महीना पहले भी पालमपुर के पास लैंड स्लाइडिंग होने के कारण फिरोजपुर मंडल से पठानकोट से हिमाचल के कांगड़ा घाटी को जाने वाली 14 (अप/डाउन) ट्रेनों में से छह ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। पठानकोट से रात के समय पठानकोट से चलने सुबह 2.15 बजे जोगिन्द्रनगर के लिए चलने वाली ट्रेन नंबर-52471 को कैंसिल कर दिया गया। इसके साथ ही दोपहर 1.20 बजे चलने वाली ट्रेन तथा इसके साथ ही सायं 5.50 मिनट पर ज्वालामुखी तक चलने वाली ट्रेन को भी रद्द कर दिया गया है। उसके बाद दो सप्ताह पहले फिर से ज्वालामुखी व पालमपुर के समीप लैंड स्लाइडिंग हो गई। इस कारण अब पठानकोट से सुबह साढ़े पांच बजे व सायं 3.50 बजे चलने वाली ट्रेन को भी रद्द कर दिया गया है। अब पठानकोट से जोगिन्द्रनगर नैरोगेज ट्रैक पर चलने वाली अप-डाउन की दस ट्रेनें रद्द कर दी गई। लगभग दो सप्ताह बीतने के बावजूद भी रेलवे ट्रैक क्लियर न होने के कारण पठानकोट से गुलेर तक मात्र दो ट्रेनें ही चलाई जा रही हैं और वहीं ट्रेनें गुलेर से वापस पठानकोट आ रही हैं।

पठानकोट से गुलेर तक चलाई जा रही मात्र दो ट्रेनें, वही वापस हो रही पठानकोट

ज्वालामुखी व पालमपुर के पास हुई लैंड स्लाइडिंग

डिप्टी एसएस दिलबाग सिंह का कहना है कि ज्वालामुखी व पालमपुर के समीप ट्रैक के पास लैंड स्लाइडिंग होने से फिरोजपुर मंडल की ओर से हिमाचल प्रदेश के लिए चलने वाली नैरोगेज की अप-डाउन की अब दस ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि कर्मचारी लगातार ट्रैक को क्लियर करने के लिए लगाए गए हैं। जैसे ही ट्रैक क्लियर हो जाएगा उसके बाद ही फिरोजपुर मंडल से आदेश जारी होने के बाद ही ट्रेनों को चलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...