पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सीएम हाउस से पहले पुलिस का चक्रव्यूह आशा वर्कर नहीं भेद पाईं, नारे लगा लौटीं

सीएम हाउस से पहले पुलिस का चक्रव्यूह आशा वर्कर नहीं भेद पाईं, नारे लगा लौटीं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाेलाे ग्राउंड के बाहर आशा वर्कर्स ने धरना दिया। सीएम हाउस की ओर जाते समय प्रदर्शनकारियों काे रोकती पुलिस।

भास्कर संवाददाता। पटियाला

आशा वर्कर व फेसिलिटेटर यूनियन पंजाब ने मंगलवार को पटियाला में प्रदर्शन किया। वह सीएम हाउस घेरने के लिए निकली थीं। पुलिस ने रोका तो सभी पोलो ग्राउंड पर रुक गईं और वहीं धरना शुरू कर दिया। इस दौरान उनकी पुलिस ने धक्का-मुक्की हुई। पुलिस ने बैरीकेड्स लगाकर उनको पोलो ग्राउंड से आगे नहीं जाने दिया। विरोध में यूनियन मेंबरों ने नारेबाजी की। राेड जाम हाेने पर पुलिस ने ट्रैफिक पाेलाे ग्राउंड से पहले ही फव्वारा चाैक की तरफ डायवर्ट कर दिया था। सूबा प्रधान किरणदीप काैर पंजाेला ने कहा कि राज्य सरकार सामाजिक सेवा के नाम पर आशा वर्करों का आर्थिक शोषण कर रही है। देश में आठ लाख आशा वर्कर सेवाएं प्रदान कर रही हैं। प्रति माह पक्की सेलरी, फेसिलिटेटरों को आंगनबाड़ी सुपरवाइजर का स्केल देने, आशा वर्कर को बीमा, वर्दी भत्ता, मोबाइल भत्ता, अस्पताल में अलग कमरा देने, टूर भत्ता 50 से बढ़कर 200 करने, हरियाणा की तर्ज पर आशा वर्कर काे भत्ता देना की मांग की। यहां जसवीर काैर भादसाें, गुरदीप काैर, रूपिंदर काैर, कर्मजीत काैर, पूनमजीत काैर, मनप्रीत काैर, संताेष, नीलम ज्याेति व केएस संद्धू माैजूद रहीं।

खबरें और भी हैं...