पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • हैंडलूम डे पर ‘ग्लैमर ऑफ गमछा’ कैलेंडर जारी कर दिया खास संदेश

हैंडलूम डे पर ‘ग्लैमर ऑफ गमछा’ कैलेंडर जारी कर दिया खास संदेश

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना | सात बार लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में अपना नाम दर्ज करा चुके नरेश चंद्र माथुर ने हैंडलूम डे के मौके पर ए फोर साइज का एक अनोखा कैलेंडेर जारी किया है। इसका नाम इन्होंने ‘ग्लैमर ऑफ गमछा’ रखा है। इसमें गमछा का इतिहास, निर्माण, उसके प्रकार और रंगों की विस्तृत जानकारी दी गई है। वे बताते हैं कि हैंडलूम उत्पाद के महत्व, हेरिटेज व संस्कृति को जन-जन तक पहुंचाना है। उन्होंने एक नारा भी दिया- इंडियन हैंडलूम- जीरो डिफेक्ट, जीरो इफेक्ट। कैलेंडर में संत कबीर और महात्मा गांधी की तस्वीर के अलावा 18 वर्षीय दीमा दास की गमछा के साथ तस्वीर भी है। तस्वीर में वह फिनलैंड में विश्व जूनियर एथलीट में स्वर्ण पदक जीतने के बाद असम का गमछा और तिरंगे के साथ खुशी जताती हुई दिखती हैं। वह कहते हैं कि इस बार वे यह मुहिम चला रहे हैं कि रक्षा बंधन के मौके पर बिहार की हर बहन अपने भाई को राखी बांधने के बाद एक गमछा जरूरी प्रजेंट करे। इससे हैंडलूम कारोबार में लगे बुनकरों का भी भला हो सकेगा। कैलेंडर में गमछा के कई प्रयोग भी बताए गए हैं। माथुर,स्टेट बैंक में रीजनल मैनेजर के पद से रिटायर हैं।

खबरें और भी हैं...