पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • पंडित विश्वमोहन भट्ट की मोहन वीणा का चला जादू, मंत्रमुग्ध हो सुनते रहे निफ्टियंस

पंडित विश्वमोहन भट्ट की मोहन वीणा का चला जादू, मंत्रमुग्ध हो सुनते रहे निफ्टियंस

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिखर पर पहुंच कर लोग कैसे शून्य को अपना कर सहज हो जाते हैं ग्रैमी अवार्ड विनर और पद्मभूषण से सम्मानित पंडित विश्वमोहन भट्ट से मिलकर ये महसूस किया पटना निफ्ट के बच्चों ने। पंडित जी मोहन वीणा के तारों पर अपनी उंगलियों का जादू दिखाते रहे और बच्चे मंत्रमुग्ध होकर उसे सुनते रहे।

संगीत की इस महफिल का साथ मौसम ने भी साथ दिया और रिमझिम बारिश से पंडित जी को अपनी ओर से सम्मान दिया। सबसे पहले उन्होंने राग शाम कल्याण में अालाप-जोड़-झाला बजाया। उसके बाद द्रुत की बंदिश में तीन ताल प्रस्तुत किया। स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में उन्होंने राग देस में वंदे मातरम् की धुन सुनाई और आखिर में सुनाया राग जोग पर आधारित अपनी रचना मीटिंग विथ द रिवर जिसके लिए उन्हें ग्रैमी अवार्ड मिला था। तबले पर उनका साथ पंडित रामकुमार मिश्रा और राहुल कुमार मिश्रा ने दिया। इस अवसर पर पटना रूरल एसपी आनंद कुमार, वीमेंस कॉलेज की प्रोफेसर माया शंकर सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे। लगभग एक घंटे के प्रोग्राम के बाद पंडित जी जब जाने के लिए उठे तो पचास से भी ज्यादा बच्चे उनके साथ सेल्फी लेने के लिए दौड़ पड़े। हर बच्चा उन्हें कैमरे में कैद कर लेना चाहता था। पंडित जी विनम्रता के साथ एक-एक के साथ फोटो खिंचवाते रहे।

निफ्ट के डाइरेक्टर संजय श्रीवास्तव बच्चों से कहते रहे, आखिर कितनी सेल्फी लोगे, लेकिन पंडित जी सहजता के साथ मुस्कुराते हुए बच्चों की फरमाइश पूरी करते रहे। उनके चेहरे पर न तो कोई तनाव दिखा और न ही घंटों बैठने के बाद की थकान। मौका था नेशनल हैंडलूम डे पर स्पिक मैके की ओर से आयोजित कार्यक्रम का।

Spic Macay

खबरें और भी हैं...