पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • मेजर भसीन की कहानियों में जीवन के यथार्थ का चित्रण

मेजर भसीन की कहानियों में जीवन के यथार्थ का चित्रण

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मेजर बलबीर सिंह ‘भसीन’ की कहानियां, समाज में निरंतर घट रही घटनाओं और यथार्थ का सत्य प्रस्तुत करती हैं। उनमें जीवन को मूल्यवान बनाने वाले आदर्श और काव्य-कल्पनाएं भी दिखाई देती हैं। यह बातें मंगलवार को बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन में मेजर भसीन के लघु-कथा संग्रह, ‘एक सौ लघु कथाएं’ के लोकार्पण पुस्तक पर वक्ताओं ने कहा।

पुस्तक का लोकार्पण करते हुए पटना उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि मेजर भसीन की पुस्तक में साहित्य के सभी रस का आस्वादन मिलता है। मुख्य अतिथि के रूप में भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. अमरनाथ सिन्हा ने कहा कि लेखक व्यक्तित्व से हीं एक मुक्त स्वभाव के पुरुष हैं। सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ ने कहा कि मेजर भसीन काव्य-कल्पनाओं से समृद्ध एक समर्थ कवि और कथाकार हैं। पुस्तक के लेखक मेजर भसीन ने कहा कि विविधताओं और संघर्ष से भरे अपने जीवन में और अपने आस-पास जो कुछ भी महत्त्वपूर्ण होते देखा है, उसे अपनी रचनाओं में उतारने की कोशिश की है। सम्मेलन के उपाध्यक्ष डॉ. शंकर प्रसाद,डा कल्याणी कुसुम सिंह, डॉ. मेहता नगेंद्र प्रसाद सिंह तथा कवि राज कुमार प्रेमी ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

अतिथियों का स्वागत सम्मेलन के उपाध्यक्ष नृपेंद्र नाथ गुप्त ने तथा धन्यवाद-ज्ञापन डा नागेश्वर प्रसाद यादव ने किया। संचालन किया योगेन्द्र प्रसाद मिश्र ने। इस अवसर पर वरिष्ठ घनश्याम, सुनील कुमार दूबे, डॉ. विनय कुमार विष्णुपुरी, समीर परिमल, शुभचंद्र झा, चंदा मिश्र,जय प्रकाश पुजारी,नरेंद्र झा, डा शालिनी पाण्डेय, कुमार राज भूषण मिश्र, नेहाल कुमार सिंह ‘निर्मल’,अर्जुन प्रसाद सिंह,राम किशोर सिंह आदि उपस्थित थे।

बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन में मेजर भसीन के लघु-कथा संग्रह, ‘एक सौ लघु कथाएं’ का लोकार्पण

खबरें और भी हैं...